मनमोहनवशिष्ठ,सोलन

व्यक्तिमनमेंकुछअलगकरनेकीठानलेतोउसेसफलताजरूरमिलतीहै।ऐसाहीउदाहरणसोलनजिलाकेकंडानिवासीकिसानमोहनकश्यपकाहै,जिन्होंनेमेहनतवबेहतरतकनीकसेकृषिकोआजीविकाकासाधनबनायाऔरआजसालानालाखोंरुपयेकीकमाईकररहेहैं।जहांलोगखेतीसेमुंहमोड़सरकारीयानिजीक्षेत्रोंमेंनौकरीकारुखकररहेहैं,वहींउन्होंनेबैंकमेंकैशियरकीनौकरीछोड़खेतीकोअपनायाऔरउसीकोआयकासाधनबनालिया।बकौलमोहनकश्यप,उनकाध्येयकमजमीन,कमपानीऔरकममेहनतमेंज्यादापैदावारहै।वहबैंकमेंकैशियरकेपदथे।परिवारसेखेतीछूटगईथी,क्योंकिसभीनौकरीकररहेथे।1992मेंबैंककीनौकरीछोड़करखेतीकरनेलगे।इसदौरानसिनजेंटाइंडियालिमिटेडकंपनीसेजुड़ेऔरउसीकेमाध्यमसेइजरायलकेसाथभीजुड़गए।इसकेबादइजरायलकीतकनीकसेपॉलीहाउसमेंखेतीशुरूकी।मुख्यतौरपरवहमल्चिगवड्रिपसिस्टमसेखेतीकरतेहैं।अपनीजेबसेसाढ़ेतीनलाखसेसिचाईकेलिएदोलिफ्टयोजनाएंशुरूकीऔरआजपूरेखेतमेंड्रिपप्रणालीसेसिचाईकेलिएपाइपेंबिछीहुईहैं।02बीघाजमीनसेसालानादसलाखआमदनी

मोहननेबतायाकिदोबीघापॉलीहाउसमेंइजरायलतकनीककीखेतीमेंटमाटर,शिमलामिर्च,गोभी,बीनवअदरकजैसीनगदीफसलोंकाउत्पादनकरतेहैं।इन्हींफसलोंसेवहवार्षिकआठसेदसलाखकीआयकमालेतेहै।वहमॉर्डनखेतीप्रबंधककमेटीकेराष्ट्रीयसदस्यभीहैं।कमेटीकीबैठकचंडीगढ़मेंहोतीहैं।नौणीविश्वविद्यालयवकृषिविभागसेजुड़ेहोनेसेउनकीखेतीकोदेखनेकेलिएप्रदेशभरसेकिसानआतेहैं।सोलन,शिमला,सिरमौरवअन्यजिलोंकेतीनहजारकिसानउनसेजुड़ेहैं।20हजारकीवीपौधोंकीनर्सरीकररहेतैयार

मोहनअबस्वास्थ्यवर्धकफलकीवीकीनर्सरीभीतैयारकररहेहैं।जिसमें20हजारपौधेतैयारहोंगे।

By Dyer