ग्वालियर,जेएनएन।पतिकीलंबीआयुकेलिएरखाजानेवालाकरवाचौथ(KarvaChauth2021)कापर्वकार्तिकमास केकृष्णपक्षकीचतुर्थीतिथि24अक्‍टूबरदिनरविवारकोमनायाजाएगा।इसबारकरवा चौथकाव्रतकुछखासहोगाक्‍योंकियेइसबारपूजनरोहिणीनक्षत्रऔरवरियानयोगमें होगा।इसबाररविवारहोनेकेकारणव्रतीमहिलाओंकासूर्यदेवकाआशीर्वादभीमिलेगा।

व्रतअत्‍यंतमंगलकारीवशुभफलदायक

पंडितगोविंदआचार्यकेअनुसारकरवाचौथकाव्रतविवाहितमहिलाएंप्रतिवर्षकार्तिकमासके कृष्णपक्षकीचतुर्थीतिथिकोरखतीहैं।इससालयेव्रत24अक्‍टूबरकोमनायाजाएगा। सौभाग्‍यशालीस्त्रियांसुख-समृद्धिऔरपतिकीलंबीआयुकेलिएपूरेदिननिर्जलारहकरकरवा चौथकाव्रतकरतीहैंऔररातकोचंद्रमाकेदर्शनकरव्रतकापारणकियाजाताहै।इसदिन व्रतीमहिलाएंभगवानशिव,गणेशजीऔरकार्तिकेयकेसाथबनीगौरीकेचित्रकीपूरेविधि विधानकेसाथपूजाकरतीहैं।मान्‍यताहैकिऐसाकरनेसेजीवनमेंसुख-समृद्धिआतीहैऔर पतिकीआयुलंबीहोतीहैऔरमहिलाओंकाअखंडसौभाग्‍यकीप्राप्तिहोतीहै।इसबारइसव्रतपरअदभुतसंयोगबनरहाहै,इसदिनएकविशेषवरियानयोगहैजोअत्‍यंतमंगलकारीव शुभफलदायकहोताहै।

जानेंकबतकरहेगाखासयोग

करवाचौथकेदिन24अक्‍टूबरकोरात11बजकर35मिनटतकवरियानयोगरहेगा। धार्मिकग्रंथोंकेअनुसारयेशुभयोगमंगलकार्योंमेंसफलताप्रदानकरनेवालाहोताहै।इसके अलावादेररात1बजकर2मिनटतकइसदिनरोहिणीनक्षत्रभीरहेगा।

करवाचौथव्रतविधि

करवाचौथकेदिनसुबहनहाकरपूजाकीतैयारीकरेंइसकेलिएघरकेउत्तर-पूर्वदिशाके कोनेकोअच्‍छीतरहस्‍वच्‍छकरलकड़ीकीचौकीबिछाकरउसपरमांगौरीवभगवानगणेश कीप्रतिमायातस्वीरयाचित्रलगाये।इसकेलिएआपचाहेंतोबाजारमेंमिलनेवालाकरवा चौथकाकैलेंडरभीलगासकतेहैं।इसकेआगेजलसेभरालोटायाकलशस्‍थापितकरें।लोटे याकलशकीगर्दनपरकलावाबांधदेंऔरउसमेंथोड़ेसेचावलभीडालदें।कलशपररोली औरचावलकाटीकालगायेऔरस्‍वास्तिकभीबनायें।कुछलोगकलशकेआगेमांगौरीकोस्‍थापितकरनेकेलिएमिट्टीसेबनीगौरीजीयासुपारीपरमौलीलपेटकरभीरखदेतेहैं।गौरीमांकोसिंदूरचढ़ाये।इसदिनचीनीसेबनेकरवेऔरमिट्टीकेकरवोंकाबहुतमहत्‍वहोता हैव्रतीमहिलायेंइनसेहीपूजाकरतीहैं।दोपहरबादमहिलायेंअच्‍छीतरहसजसंवरकरदेवीमां केसामनेदीपजलातीहैंऔरकहानीसुनतीहैं।रातकोचन्द्रोदयकेसमयइसीलोटेकेजलसे चन्द्रमाकोअर्घ्यदियाजाताहैऔरघरमेंबनेपकवानकामांकोभोगलगाकरव्रतकापारण कियाजाताहै।

करवाचौथकाशुभमुहूर्त

चतुर्थीतिथिप्रारम्भ:24अक्टूबर-तड़के3बजकर2मिनटसे

चतुर्थीतिथिसमाप्त:25अक्टूबर-प्रात:5बजकर43मिनटतक

चन्द्रोदयसमय:शाम7बजकर51मिनटपरहोगा।

By Douglas