नयीदिल्ली,चारनवंबर(भाषा)पर्यावरण,वनएवंजलवायुपरिवर्तनमंत्रीप्रकाशजावड़ेकरनेदिल्लीऔरआसपासकेइलाकोंमेंवायुप्रदूषणकीगंभीरहोतीसमस्याकाठीकराएकबारफिरदिल्लीकीकेजरीवालसरकारपरफोड़तेहुएकहाहैकिदिल्लीसरकार,केन्द्रीयप्रदूषणनियंत्रणबोर्ड(सीपीसीबी)केआदेशोंकापालननहींकररहीहैतथाप्रदूषणकेनामपरसिर्फविज्ञापनोंमेंपैसाबर्बादकियाजारहाहै।रसायनउद्योगजगतद्वारासोमवारको‘सततविकास’परआयोजितसम्मेलनमेंहिस्सालेनेकेबादजावड़ेकरनेदिल्लीमेंवायुप्रदूषणकेसंकटपरसंवाददाताओंकेसवालोंकेजवाबमेंकहाकिप्रदूषणजनताकोतकलीफदेनेवालीएकवास्तविकसमस्याहै।केन्द्रसरकारइसदिशामेंबेहदगंभीरहै,यहांतककिप्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीनेरविवारकोथाईलैंडमेंहोतेहुएइससमस्यापरध्यानदिया।इसकेबादप्रधानमंत्रीकार्यालयनेदेरशामदिल्लीऔरपड़ोसीराज्योंकीउच्चस्तरीयबैठकबुलाई।उन्होंनेसीपीसीबीकेआदेशोंकेपालनमेंदिल्लीसरकारपरउदासीनरवैयाअपनानेकाआरोपलगातेहुएकहा,‘‘सीपीसीबीनेजितनेभीआदेशदिएहैं,दिल्लीसरकारउन्हेंदेखेऔरउनमेंसेकितनेकापालनकियाहै,यहबताए।’’पंजाबकेकिसानोंद्वारापरालीजलानेपररोकनहींलगनेकेकारणवायुप्रदूषणकासंकटगहरानेकेसवालपरजावड़ेकरनेकहाकिकेजरीवालसरकार22लाखकिसानोंमेंसेसिर्फ40हजारकिसानोंकोपरालीनिस्तारणमशीनेंदेनेकीदलीलदेरहीहै।उन्होंनेप्रदूषणकेनामपरविज्ञापनोंमेंपैसाबर्बादकरनेकाकेजरीवालसरकारपरआरोपलगातेहुएकहा,‘‘हमनेतोपरालीजलानेकीसमस्यासेनिपटनेकेलिएराज्यसरकारोंको1100करोड़रुपयेदिएहैं।दिल्लीसरकारकमसेकम1500करोड़रुपयेविज्ञापनपरबर्बादकरनेकेबजायदिल्लीकाप्रदूषणकमकरनेकेलिए1500करोड़रुपयेकिसानोंकोक्योंनहींदेरहीहै।’’प्रदूषणसेनिपटनेकेउपायोंकापालनसुनिश्चितकरनेकेलिएसभीराज्योंकीअबतकबैठकनहींबुलाएजानेकेसवालपरजावड़ेकरनेकहा,‘‘मैंनेहीमंत्रीबननेकेबादपांचराज्योंकेमंत्रियोंऔरसचिवोंकीबैठकबुलाकरसमस्याकेसमाधानखोजनेकीगंभीरपहलकीशुरुआतकीहै।अबतकइसप्रकारकीसातआठबैठकेंहोचुकीहैं।नौवींबैठकभीजल्दहीहोगी।’’उन्होंनेरविवारकोप्रधानमंत्रीकार्यालयद्वाराबुलाईगईबैठककाजिक्रकरतेहुएकहाकिसोमवारकोभीराज्योंकेसचिवऔरमुख्यसचिवोंकीबैठकहोगी।दिल्लीसरकारद्वाराराष्ट्रीयराजधानीमेंसोमवारसेलागूकिएगएसम-विषमनंबरनियमसहितइससमस्यासेजुड़ेकिसीअन्यसवालकाजावड़ेकरनेकोईजवाबनहींदिया।सम-विषमनंबरनियमकेसमर्थनकेसवालपरउन्होंनेइतनाहीकहाकिवहइलेक्ट्रिककारकाइस्तेमालकररहेहैं,जिसेनंबरनियममेंछूटप्राप्तहै।