चंडीगढ़,जेएनएन।उड़नसिखपद्मश्रीमिल्खासिंह(FlyingSikhMilkhaSingh)कापूराजीवनखेलकोसमर्पितरहा।उन्होंनेपहलेदेशकेलिएमेडलजीतेऔरफिरअलग-अलगमंचोंसेजुड़करखेलवखिलाड़ियोंकोप्रमोटकिया।इतनाहीनहींकुछदिनपहलेमिल्खासिंहनेएथलीटहिमादासकोटोक्योओलंपिक-2021मेंमेडलजीतनेकेटिप्सदिएथे।

इसीदौरानदैनिकजागरणसेबातचीतमेंमिल्खासिंहनेबतायाथाकिमैंखुद400मीटररेसकाधावकरहाहूं,इसीलिएमैंनेहिमादासकोफोनपरतैयारीकेटिप्सदिएहैं।इतनाहीनहींमैंनेहेमादासकेकोचसेबातकरउन्हेंभीबतायाहैकिवहकैसेउनकीओलंपिककेलिएतैयारीकरवाएं।मिल्खाबतातेथेकिआजदेशमेंबेहतरखेलसुविधाएंहैं,हमारेजमानेमेंइतनेअच्छेखेलमैदानतोदूरखेलमंत्रीतकनहींहोताथा,बावजूदइसकेहमनेबेहतरीनकोशिशकी।अबसबसुविधाएंमिलरहीहैंतोखिलाड़ियोंसेमेडलकीउम्मीदकीजासकतीहै।

खेलजगतमेंइकलौतेबाप-बेटाजिन्हेंमिलाहैपद्मश्री

मिल्खासिंहऔरउनकेबेटेजीवमिल्खासिंहइकलौतेऐसेपिता-पुत्रकीजोड़ीथी,जिन्हेंउनकीखेलउपलब्धियोंकेलिएपद्मश्रीअवार्डमिलाहै।बतादेंस्वर्गीयमिल्खासिंहकेबेटेजीवमिल्खासिंहइंटरनेशनलस्तरकेगोल्फरहैं।जीवमिल्खासिंहदेशकेइकलौतेभारतीयगोल्फरहैं,जिन्होंनेदोबार2006और2008मेंएशियनटूरआर्डरऑफमेरिटजीताहै।वहयूरोपियनटूर,जापानटूरऔरएशियनटूरमेंखिताबजीतचुकेहैं।जीवमिल्खासिंहअपनेकरियरमें28वींविश्वरैंकिंगहासिलकीथी,इसकेऊपरअभीतककिसीभारतीयगोल्फरकीव‌र्ल्डरैंकिंगनहींरहीहै।उनकीइन्हींखेलउपलब्धियोंकेलिएभारतसरकारउन्हेंभीपद्मश्रीसम्मानदेचुकीहै।

पूरापरिवाररहाखेलकोसमर्पित

मिल्खासिंहकापूरापरिवारखेलकोसमíपतरहाहै।उनकीपत्नीनिर्मलकौरपूर्वभारतीयमहिलावॉलीबॉलकप्तानरहचुकीहैं।उनकीतीनबेटियाऔरएकबेटाहै।जीवमिल्खासिंहइंटरनेशनलस्तरकेगोल्फरहैं।मिल्खासिंहकीबेटीसोनियानेउनकीआत्मकथादरेसऑफमाईलाइफलिखीहै।

By Duncan