नीरजशर्मा,होशियारपुर

पशुपालकोंकेलिएवरदानसाबितहोनेवालावेटनरीअस्पतालखुदबुरीहालतसेजूझरहाहै।बिल्डिंगदिन-प्रतिदिनखंडहरमेंतबदीलहोरहीहै।छतवदीवारेंकंडमहोचुकीहैं।अस्पतालप्रशासनकीमानेंतोविभागकेआलाअधिकारियोंकोकईबाररिमाइंडरडालागयाहै,लेकिनकोईकार्रवाईनहींहुई।अस्पतालकेचारोंतरफभांगबूटीउगीहुईहै।यहांतककिमरम्मतनहोनेकेकारणरिहायशीकांप्लेक्सखालीहोचुकाहै।मात्रचारहीक्वार्टरबचेहैं,वहभीलगभगअपनीआयुपूरीकरचुकेहैं।वहांपरक्लासफोरकेकर्मचारीरहरहेहैं।1987मेंइमारततैयारहुईथी।जबअस्पतालशुरूकियाथातोडाक्टरोंवस्टाफकेलिएरिहायशीक्वार्टरभीबनाएगएथेऔरहरसुविधादीगईथी।वाटरसप्लाईकेलिएअलगसेटंकीतैयारकरवाईगईथी,परंतुउसकेबादकिसीनेइसपरिसरकीओरध्याननहींदिया।समयकेसाथ-साथईमारतखस्ताहोतीचलीगईऔरअबदमतोड़नेकेकगारपरहै।

पूरेपरिसरकीवायरिगभीखराब

इमारतकेसाथ-साथअस्पतालमेंबिजलीसेचलनेवालेउपकरणभगवानभरोसेहैं,क्योंकिअंडरग्राउंडवायरिगखराबहोचुकीहै।यदिपूरेअस्पतालकीवायरिगबदलीजाएतोलगभग3.50सेचारलाखरुपयेकाखर्चहैऔरविभागइतनाखर्चकरनेकेलिएतैयारनहींहै।इससंबंधीएस्टीमेटहाईकमानकोकाफीदेरपहलेहीदेदियागयाहै।

पलायनकरबचाईजान

धीरे-धीरेक्वार्टरखस्ताहोनेकेचलतेमुलाजिमपलायनकरगएऔरएकयादोक्वार्टरकोछोड़करबाकीसभीखालीहोचुकेहैंऔरकभीभीगिरसकतेहैं।जोक्वार्टरप्रयोगमेंहैंवहभीटूटनेकेकगारपरहैं।

सरकारकीप्लानिंगकेबारेमेंनहींपता:डिप्टीडायरेक्टर

पशुपालनविभागकेडिप्टीडायरेक्टरडा.हरजीतसिंहसेबातकीगईतोउन्होंनेबतायाकिकुछदेरपहलेहीयहांज्वाइंनहुएहैं।इससेपहलेअधिकारियोंनेएस्टीमेटदियाहैजोआलाकमानकेपासहै।लेकिनसरकारकीक्याप्लानिगहै,क्याबिल्डिंगनईबनेगीयाफिरशिफ्टहोगी।इसकेबारेमेंकुछनहींकहाजासकता।

By Ellis