नईदिल्लीकाबुलसेभारतीयनागरिकोंकोलेकरतीननिजीउड़ानेंरविवारसुबहइंदिरागांधीइंटरनेशनल(आईजीआई)एयरपोर्टटर्मिनल3परउतरीं।इनमेंएयरइंडिया,विस्ताराऔरइंडिगोशामिलथीं।इसकेसाथही200सेज्‍यादाभारतीयनागरिकसकुशलघरपहुंचगए।इन्‍होंनेबतायाकिअफगानिस्‍तानमेंहालातबहुतबिगड़गएहैं।सबनिकलनेकेलिएछटपटारहेहैं।काबुलमेंअमेरिकीदूतावासमेंकामकरनेवालेसुखविंदरसिंहनेकहाकिकाबुलकीसड़कोंपरअराजकताजैसीस्थितिहै।सभीअफगानिस्तानछोड़नेकीजल्दीमेंहैं।14अगस्तकीरातकोभारतीयदूतावासकेएकअधिकारीकेहस्तक्षेपसेस्थितिबिगड़नेपरउन्हेंनिकालागयाथा।वहतबसेदोहामेंरहरहेथे।उन्होंनेकहा,'वहांफंसेज्‍यादातरलोगोंकोसुरक्षितनिकाललियागयाहै।'उन्होंनेबतायाकिवहखुदउसहेलीकॉप्टरमेंथे,जिसकावीडियोवायरलहोगया,जिसमेंलोगोंकोघरवापसजानेकेलिएजयकारकरतेदेखाजासकताहै।पंजाबकेरहनेवालेसुखविंदरसिंहबोलेकिकाबुलमेंतालिबानकेसत्तामेंआनेकेबादअफगानिस्ताननेएकखतरनाकमोड़लेलिया।उन्‍होंनेकहा,'कईबारऐसालगाकिमैंघरनहींलौटपाऊंगा।कोईउम्मीदनहींबचीथी।'यहपूछेजानेपरकिक्यावहकामकेलिएफिरसेकाबुललौटेंगे,सुखविंदरनेकहाकियहइसबातपरनिर्भरकरेगाकिभारतसरकारकेसाथअफगानिस्तानकेसंबंधकैसेबनेरहतेहैं।20सालमेंजोकुछबनायागया,सबकुछखत्‍महै...तालिबानकीहकीकतबताते-बतातेरोपड़ेअफगानसांसदकाबुलमेंयूएईदूतावासमेंकामकरनेवालेप्रवीणसिंहनेकहाकिवहकभीभीवापसजानेकेबारेमेंनहींसोचेंगे।कारणहैकिवहांउन्होंनेजोदर्दनाकऔरजानलेवाअनुभवकिया,वहभयावहहै।काबुलमेंएकनिजीकंपनीमेंकामकरनेवालेऔररविवारकोघरलौटेकमलचक्रवर्तीनेकहा,'मुझेखुशीहैकिमैंसुरक्षितघरलौटआयाहूं।लेकिन,जबभीमैंवहांकीस्थितिकेबारेमेंसोचताहूंतोइसकेबारेमेंसोचकरहीकांपजाताहूं।'उन्होंनेकहाकिअफगानकाबुलमेंभारतीयोंकेलिएबहुतमददगारहैं।यहीसमयहैजबभारतसरकारकोभीउनकेलिएकुछकरनाचाहिए।भारत'दूसरेघर'जैसावहीं,भारतीयवायुसेनाकेसी-19सैन्यपरिवहनविमानकेजरियेभी107भारतीयोंऔर23अफगानसिखोंऔरहिंदुओंसमेतकुल168लोगोंकोकाबुलसेदिल्लीकेनिकटहिंडनवायुसेनाअड्डेपरलायागया।इससमूहमेंअफगानसांसदनरेंद्रसिंहखालसाऔरअनारकलीहोनरयारकेसाथ-साथउनकेपरिवारकेलोगभीथे।भारतकोअपना'दूसराघर'बतातेहुएखालसानेअपनीखौफनाककहानीसुनाई,जबउनकावाहनकाबुलहवाईअड्डेपरलेजाएजारहेलोगोंकेकाफिलेसेअलगहोगया।खालसानेबताया,'उन्होंने(तालिबानने)कल(शनिवारको)काबुलहवाईअड्डेपरजातेसमयअफगाननागरिकहोनेकेकारणहमेंदूसरोंसेअलगकरदिया।हमवहांसेभागगएक्योंकिछोटेबच्चेहमारेसाथथे।'काबुलनिवासीसांसदनेउम्मीदजताईकिवहचीजेंठीकहोनेकेबादअपनेदेशवापसजानेकाप्रबंधकरेंगे।अफगानिस्तानमेंतालिबानकेकब्‍जेकेबाद'शरारत'करेगापाकिस्‍तान?पूर्वसेनाप्रमुखनेचेताया,कश्मीरमेंचौंकन्‍नारहेसरकारखालसानेकहा,'भारतहमारादूसराघरहै।हमवहांपीढ़ियोंसेरहरहेहैं।हमईश्वरसेप्रार्थनाकरतेहैंकिअफगानिस्तानकापुनर्निर्माणहो,औरहमवहांवापसजाकरअपनेगुरुद्वारोंऔरमंदिरोंमेंलोगोंकीसेवाकरसकें।'अफगानिस्तानकेहालातऔरउसकेनएशासकोंकेबारेमेंखालसानेकहा,'तालिबानएकसमूहनहींहै-10-12धड़ेहैं।यहपतालगानामुश्किलहैकिकौनतालिबानीहैऔरकौननहीं।'हमईश्वरसेप्रार्थनाकरतेहैंकिअफगानिस्तानकापुनर्निर्माणहोऔरहमवहांवापसजाकरअपनेगुरुद्वारोंऔरमंदिरोंमेंलोगोंकीसेवाकरसकें।अफगानसांसदनरेंद्रसिंहखालसापीएममोदीकाशुक्रियाअफगानिस्तानकीसंसदकेउच्चसदनकीसदस्यहोनरयारनेएकवीडियोसंदेशमेंकहा,'मैंभारतसरकार,प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदी,विदेशमंत्रालयऔरभारतीयवायुसेनाकोकाबुलसेहमेंलानेऔरहमारीजानबचानेकेलिएशुक्रियाअदाकरतीहूं।'अधिकारियोंनेकहाकिहिंडनऔरराष्ट्रीयराजधानीमेंइंदिरागांधीअंतरराष्ट्रीयहवाईअड्डेपरपहुंचनेवालेसभीलोगोंकीकोविड-19संबंधीजांचकीगईहै।मैंभारतसरकार,प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदी,विदेशमंत्रालयऔरभारतीयवायुसेनाकोकाबुलसेहमेंलानेऔरहमारीजानबचानेकेलिएशुक्रियाअदाकरतीहूं।अफगानिस्तानकीसंसदकेउच्चसदनकीसदस्यहोनरयारअफगाननागरिकअलादादकुरैशीकीपत्नीकश्मीरकीहैं।कुरैशीनेकहा,'मेरीदोबेटियांहैं।हमेंबचानेकेलिएहमभारतसरकार,मोदीजी,विदेशमंत्रालयऔरवायुसेनाकोधन्यवाददेतेहैं।'आजीविकाकीतलाशमेंछहमहीनेपहलेअफगानिस्तानगएमाणिकमंडलनेमुस्कुरातेहुएकहा,'काबुलमेंहमेंबहुतसमस्याओंकासामनाकरनापड़ा,लेकिनहमारीसरकारनेहमेंबचालिया।'(आईएएनएसऔरभाषाकेइनपुटकेसाथ)

By Farmer