फोटोसंख्या:1-हालपरिषदीयविद्यालयोंका

संवादसूत्र,रामपुरा:परिषदीयविद्यालयोंकोसरकारद्वाराभलेहीअत्याधुनिकसुविधाओंसेपरिपक्वकियाजारहाहो,लेकिनइसक्षेत्रमेंशिक्षकोंकीकमीसेनौनिहालोंकेभविष्यकीकिसीकोफिक्रनहींहै।

क्षेत्रके10स्कूलमहजशिक्षामित्रोंकेभरोसेहैंतथा4स्कूलोंमेंतोतालाबंदीचलरहीहै।ऐसीस्थितिमेंनौनिहालोंकीपढ़ाईभगवानभरोसेहै।ब्लाकक्षेत्रकेडेढ़सैकड़ाकेलगभगपरिषदीयविद्यालयोंमें253शिक्षकोंव92शिक्षामित्रोंकेअलावाअनुदेशकोंवअनुचरोंकीतैनातीहै।फिरभीबच्चोंकीप्राथमिकशिक्षाबेपटरीचलरहीहै।

क्षेत्रकेनदियापारइलाकेकीभौगोलिकस्थितिभीबहुतदयनीयहै।पहुजनदीवसिधनदीकेदोनोंओरस्कूलहैंमगरगुरुजीजानाभीमुनासिबनहींसमझतेहैं।करीबआधासैकड़ासेभीज्यादास्कूलसिर्फएक-एकअध्यापककेभरोसेहैं।जबकियहअध्यापकसिर्फकागजीकार्रवाईपूरीकरनेमेंव्यस्तरहतेहैंफिरपढ़ाईतोऔपचारिकतारहतीहै।14स्कूलतोशिक्षकविहीनहैंतो4स्कूलोंमेंतोबिल्कुलतालाबंदीरहतीहै।

प्राथमिकविद्यालयोंएवंउनकीस्थितिपरएकनजर

कुलप्राथमिकविद्यालय-114

कुलजूनियरहाईस्कूल-48

शिक्षामित्रोंकेआश्रित-10

ग्रामभटपुरा,बिलौहा,महमूदपुरवाआदिसहिततालाबंदीस्कूल-04

कुलशिक्षामित्र-92

बीईओसर्वेशकुमारसिंहकाकहनाहैजोनयीभर्तीहुईहैजैसेहीनयेअध्यापकमिलेंगेतोएकलविद्यालयोंमेंउनकीनियुक्तिकरायीजाएगी।