जागरणसंवाददाता,कुरुक्षेत्र:भारतीयकिसानयूनियनलोकसभाचुनावमेंभाजपाकाविरोधकरेगी।सोमवारकोजाटधर्मशालामेंआयोजितप्रदेशस्तरीयबैठकमेंइसकानिर्णयलियागयाहै।हालांकिउसनेअभीतककिसीअन्यपार्टीकासहयोगकरनेकाफैसलानहींलियाहै।बैठककीअध्यक्षताकिसानयूनियनकेपूर्वप्रदेशाध्यक्षगुरनामसिंहचढूनीनेकी।उन्होंनेभाजपापरकिसानविरोधीफैसलेलेनेकाआरोपलगायाहै।उन्होंनेआरोपलगायाकिभाजपासरकारमेंदेशभरमेंकिसानोंकाजीवनस्तरऔरअधिकनीचेआयाहै।सरकारकीगलतआयत-निर्यातनीतियोंकेकारणचीनी,मक्का,दालें,खाद्यतेलआदिअनाजविदेशोंसेबड़ीमात्रामेंआयातकिएगए।इससेदेशमेंकिसानोंकीफसलोंकेउचितभावनहींमिले।सरकारनेकिसानआंदोलनोंकेदौरानकिसानोंपरलाठियांऔरगोलियांचलवाईऔरमुकदमेदर्जकराएं।इसकाविरोधभीइनचुनावमेंकियाजाएगा।सरकारने2014मेंकिएवादेअनुसारस्वामीनाथनआयोगकीरिपोर्टलागूनहींकी।प्रधानमंत्रीफसलबीमायोजनामेंकंपनियोंसेकिसानोंसेलूटकराईगई।गुरनामसिंहचढूनीनेकहाकिभाजपाकेउम्मीदवारनायबसैनीनेमंत्रीरहतेहुएभीअपनेक्षेत्रनारायणगढ़शुगरमिलसेकिसानोंकेगन्नेकीपेमेंटनहींकराईउल्टाकिसानोंकेऊपरमुकदमेदर्जकराए।इसकेविरोधस्वरूपकिसानोंनेपंचायतकरनायबसैनीकेखिलाफलौटानमकडालकरविरोधकरनेकाफैसलालियाथा।

By Elliott