जागरणसंवाददाता,सिरसा:

भारतीयकिसानसंघसेजुड़ेकिसानोंनेरविवारकोटाउनपार्कमेंबैठककीऔरउसकेबादबाजारोंमेंरोषमार्चनिकाला।प्रदर्शनकारीकिसानोंकेहाथोंमेंकृषिकार्योंमेंउपयोगकिएजानेवालाहल,मूसलथामेहुएथे।सुभाषचौकपरभीकिसानोंनेबीचसड़कपरबैठकरअपनेमनकीबातकहीऔरबादमेंजगदेव¨सहचौक,सांगवानचौकहोतेहुएटाउनपार्कपहुंचे।इसकेबादकिसानोंनेलघुसचिवालयकेसमक्षधरनाभीदिया।

भारतीयकिसानसंघकेबैनरतलेकिसानोंकीविभिन्नमांगोंकोलेकरदियेजारहेधरनेके25वेंदिनकिसानोंनेरोषमार्चनिकाला।सरकारऔरप्रशासनकेखिलाफनारेबाजीकरतेहुएकिसानसड़कोंपरउतरे।किसानोंकानेतृत्वभारतीयकिसानसंघकेअध्यक्षमदनकटारियाकररहेथे।उनकेअलावाजिलाध्यक्षओमप्रकाशफौजी,जलजैविकप्रमुखअमृतपालशर्मा,कोषाध्यक्षधनराजयादव,डुंगररामजमाल,कुलदीपअलीमहोम्मद,बलवंत¨सहबरासरी,कमलेशखारिया,गजानंदशेखुपुरिया,महेंद्ररूपावास,सुभाषकंवरपुरा,मदनबाजेकांसहितसैंकड़ोंकीसंख्यामेंकिसानशामिलहुए।

प्रदर्शनकारीकिसानोंकोसंबोधितकरतेहुएमदनलालकटारियानेकहाकि25दिनोंसेकिसानोंकाधरनाजारीहैपरंतुअभीसरकारनेउनकीसुधनहींलीहै।जिसकारणकिसानरोषप्रदर्शनकरनेकोमजबूरहुएहै।जबतककिसानोंकीमांगेंपूरीनहीहोगी,उनकाआंदोलनजारीरहेगा।उन्होंनेकहाकिनदियोंकाराष्ट्रीयकरणहो,जीवाइएलपरियोजनालागूहो।गांवबाजेकां,फूलकां,केशवपुरम,नेजियाखेड़ावअरनियांवालीकेलिएघग्घरमेंसेरंगोईचैनलबनाईहुइ्रहैपरंतुउसमेंपानीनहींआया।पानीचोरीकरनेकेअपराधकोगैरजमानतीघोषितकियाजाए।जिलेकेसेमग्रस्तक्षेत्रोंसेड्रेनेजनिकालकरकृषिभूमिकोबचायाजाए।77गांवोंकाविचाराधीनमुआवजाजल्ददियाजाएतथाकिसानोंकेसंपूर्णकर्जेमाफहो।

By Elliott