वाराणसी,जेएनएन।वैश्विकमहामारीनसिर्फलोगोंकीजानलेरहीहै,बल्किइससेउपजेसंकटसेदिनोंदिनमनोरोगियोंकीसंख्याबढऩेलगीहै।नौकरीगंवानेकीकुंठा,अपनोंकोखोनेकीपीड़ा,कारोबार-व्यापारयारोजगारकेसाधनखत्महोनेकीविवशता,अकेलापन,लगातारकामकरनेकादबावआदिइसकीवजहबनरहेहैं।मंडलीयअस्पतालकबीरचौरामेंलाकडाउनकीशुरुआतमेंजहां15से20मरीजपहुंचतेथे,वहींअबयहआंकड़ा45से50है।

मनोचिकित्सकडा.आरकेकुशवाहाकेमुताबिकमनोरोगियोंकीसंख्यालगातारबढ़रहीहै।इसकीकोईएक-दोवजहनहींहै,बल्किसंपूर्णपरिस्थितियांइसकाकारकबनरहीहैं।कोरोनाकोलेकरशुरूमेंबहुतडरथा।कईऐसेलोगथेजिन्होंनेदो-महीनेतकघरसेबाहरकदमनहींनिकाला।किसीकीनौकरीचलीगईतोकिसीकेआयकासाधनछिनगया।बड़ोंवबच्चोंकाज्यादातरसमयघरमेंहीबीतरहाहै।आपसीखींचतान,लड़ाई-झगड़ाभीतनावबढ़ारहाहै।वहींबच्चोंकास्कूलवग्राउंडमेंखेलनाछूटगयाहै।सारासमयघरमेंहीहैं।उनकीशरारतें,डिमांडभीअभिभावकोंकोपरेशानकररहीहैं।इसकेअलावामोबाइलयाटीवीपरसमयदेकरलोगआभासीदुनियामेंज्यादातरसमयजीरहेहैं।इनसारीचीजोंसेतनावतोबढ़हीरहाहै,अधिकताहोनेपरयहरोगमेंतब्दीलहोरहाहै।

मनोरोगसेबचनेकोदुरुस्तरखेंदिनचर्या

-पौष्टिकआहारलें,तेल-मसालेकासेवनकमकरेंऔरभोजनमेंफलोंकोभीशामिलकरें।

-हल्का-फुल्काव्यायाम,योगयाध्याननियमिततौरपरकरें।

-बच्चोंकोलेकरसृजनात्मककार्योंमेंलगेरहेंयाकिसीमुद्देअथवाविषयपरचर्चाकरें।

-खालीसमयमेंनिगेटिवचीजेंदेखने-सुननेसेबचें।

-समयकासदुपयोगकरतेहुएकुछनयासीखें,इससेआत्मविश्वासबढ़ेगा।

-खानाखातेसमयमोबाइलयाटीवीसेदूररहें।

By Edwards