जागरणसंवाददाता,शिमला:राजधानीशिमलामेंस्कूलखुलनेकेबादअस्पतालोंमेंकोरोनाकेटेस्टकरवानेकेलिएबच्चोंकीभीड़जुटरहीहै।शहरकेनिजीस्कूलप्रबंधकोंनेस्कूलआनेके48घंटेपहलेकोरोनाकीनेगेटिवरिपोर्टलानेकोकहाहै।इससेशहरमेंनिजीस्कूलोंमेंपढ़रहेबच्चेअभिभावकोंकेसाथकोरोनाटेस्टकरवानेअस्पतालपहुंचरहेहैं।स्कूलप्रबंधककोरोनासंक्रमणकेचलतेकोईजोखिमनहींउठानाचाहतेहैं,इसलिएबच्चोंसेनेगेटिवरिपोर्टमांगीजारहीहै।

शनिवारकोइंदिरागांधीमेडिकलकॉलेज(आइजीएमसी)मेंटेस्टकरवानेआएबच्चोंकीसंख्याकोदेखनेकेबादअस्पतालप्रशासनकोशारीरिकदूरीकाध्यानरखतेहुएकतारेंलगानेकेनिर्देशदेनेपड़े।शारीरिकदूरीबनीरहे,इसकेलिएप्रशासनकोअलगसेसुरक्षाकर्मचारियोंकीतैनातीकरनीपड़ी।इसीतरहसेशहरकेअन्यअस्पतालोंमेंभीऐसीहीव्यवस्थाहै।जिलास्वास्थ्यविभागकीओरसेशहरमेंजितनीभीकयोस्कमशीनेंलगारखीहैंवहांपरभीटेस्टकरवानेकेलिएछात्रोंकीसंख्याएकदमसेबढ़गईहै।

छात्रटेस्टरिपोर्टलेनेकेलिएअस्पतालअभिभावकोंकेपासपहुंचरहेहैं।अस्पतालप्रशासनकाकहनाहैकिभलेहीसुरक्षाकीदृष्टिसेयहसहीहैलेकिनछात्रोंकोइसकेलिएअतिरिक्तसमयदेनाचाहिए।स्कूलोंकोएकसाथकक्षाएंखोलनेकेबजायअलग-अलगदिनबुलानाचाहिए।इससेबच्चोंकोटेस्टकरवानेकेलिएअतिरिक्तसमयमिलजाएगा।अस्पतालोंपरभीइसकाअधिकबोझनहींपड़ेगा।यदिबच्चोंकीसंख्याज्यादाहैतोस्कूलोंमेंहीकोरोनाटेस्टकरवानेकीव्यवस्थापरभीस्कूलप्रबंधनकोविचारकरनाचाहिए।22फरवरीसेखुलरहेहैंशहरकेकुछनिजीस्कूल

सरकारकीओरसेस्कूलखोलनेकेआदेशकेबादशहरमें22फरवरीसेकुछनिजीस्कूलखुलरहेहैं।संक्रमणसेबचावकेलिएस्कूलप्रबंधकोंनेअपनेस्तरपरयहफैसलालियाहै।उनकाकहनाहैकिकोरोनाकीनेगेटिवरिपोर्टआनेपरहीछात्रोंकोस्कूलमेंप्रवेशदियाजाएगा।पिछलेसालमार्चमेंबंदहुएथेस्कूल

मौजूदासमयमेंनिजीस्कूलोंमेंपढ़रहेछात्रोंकीऑनलाइनकक्षाएंचलरहीहैं।पिछलेसालकोरोनाकेखतरेकेचलतेशहरकेसभीस्कूलबंदकरदिएगएथे।करीबएकसालबाददोबारास्कूलखुलेहैंतोनिजीस्कूलप्रबंधकएहतियातबरततेहुएबड़ीकक्षाओंकेबच्चोंकोहीस्कूलबुलारहेहैं।