राजेशभट्ट/कुलदीपकाला,लुधियाना

कोरोनाकेसमयजिनदुकानदारोंनेदो-ढाईमहीनेलगातारलंगरचलाकरलोगोंकोखानाखिलाया,वहीदुकानदारइससमयआर्थिकतंगीसेगुजररहेहैं।दुकानदारोंकीमानेंतोमंदीकेकारणहालातऐसेहोचुकेहैंकिवेअपनेकर्मचारियोंकोवेतनतकसमयपरनहींदेपारहे।ऐसेमेंदुकानोंपरकामकरनेवालेलड़केनौकरीछोड़करचलेगए।मंदीसेदुकानदारकबउभरेंगेइसकेबारेमेंउन्हेंभीखुदपतानहींहै।दरअसलकोरोनाकीपहलीऔरदूसरीलहरव्यापारकीकमरतोड़चुकीहैऔरतीसरीलहरकीसंभावनानेदुकानदारोंकोडराकररखदिया।कोरोनाकेसाथसाथसरकारीनीतियोंकेकारणभीव्यापारपरबुराअसरपड़रहाहै।

फील्डगंजमार्केटकेदुकानदारभीकोरोनाऔरसरकारीनीतियोंकोमंदीकेलिएजिम्मेदारबतारहेहैं।दुकानदारोंकाकहनाहैकिपहलेकोरोनाकीवजहसेबाजारबंदरहेतोउससमयउनकीएसोसिएशननेलोगोंकीमददकेलिएलगातार73दिनतकलंगरचलाया।उसकेबादआंशिकतौरपरबाजारखोलनेकीअनुमतिमिलीतोग्राहकनहींआए।अबबाजारपूरेखुलगएहैंलेकिनग्राहकअबभीखरीददारीनहींकररहेहैं।छोटेव्यापारीकोरोनाकीतीसरीलहरसेडररहेहैंइसलिएवहस्टाकनहींरखरहे।जिसकाअसरइसबाजारकेदुकानदारोंकोझेलनापड़रहाहै।उनकाकहनाहैकिसरकारअबजोटैक्सबढ़ारहीहैउससेतोकईदुकानदारअपनाकारोबारबंदकरनेकीकगारपरआजाएंगे।

कोरोनानेकारोबारकीकमरतोड़दी।सुबहदुकानखोलतेहैंऔरदिनमेंदुकानदारआपसमेंबातेंकरकेशामकोघरचलेजातेहैं।कुछसमझमेंनहींआरहाहैकिआगेकारोबारकाहोगाक्या।

अमनदीपसिंह,दुकानदार

कोरोनोंकेअलावासरकारकीनीतियांहीऐसीहैंकिकारोबाररोजानागिररहाहै।राज्यहोयाकेंद्रसरकारकोईभीव्यापारियोंकेहितमेंकामनहींकररहीहैं।व्यापारीसबसेबुरेहालातोंसेजूझरहेहैं।

जतिनमिड्डा,दुकानदार

अबनवरात्रशुरूहोनेपरकुछहालातसुधरनेकीआसहै।नवरात्रोंसेलोगनईखरीददारीकरतेहैंइससेहमभीउम्मीदलगारहेहैंकिकारोबारकुछचलेगाऔरदुकानदारोंकेहालातमेंभीसुधारहोजाएगा।

दविदरसिंह,दुकानदार

हमारीमार्केटनेकोरोनाकालमेंलगातार73दिनतकलंगरसेवाकी।सेवाकरनेकामतलबहैकिइसबाजारमेंअच्छीकमाईथी।लेकिनकोरोनाकेबादहालातबदलगएऔरआजहमारेपासअपनेवर्करोंकोपैसेदेनेकेलिएनहींहैं।

राजेशकुमार,दुकानदार

हमारेपासगांवोंसेबड़ीगिनतीमेंग्राहकआतेथे।कोरोनाकेबादसेगांवोंसेआनेवालेग्राहकोंकीगिनतीनकेबराबररहगई।इसकीवजहसेमंदीझेलरहेहैं।सरकारकारोबारियोंकोकुछराहतदे।

आकाशकुमार,दुकानदार

बाजारखुलगएहैंलेकिनग्राहककीआमदअभीनहींहै।लोगोंकोकोरोनाकीतीसरीलहरकाडरसतारहाहै।इसलिएलोगअपनीपूंजीखर्चनहींकरनाचाहरहे।जिससेलोगअबबाजारकमजारहेहैं।

मिश्रीलाल,दुकानदार

बाजारमेंबाहरसेआनेवालेग्राहकोंकीपहलेभीड़लगीहोतीथी।ऐसेमेंउनकीकांफेक्शनरीमेंभीखूबबिक्रीहोतीथी।जबसेबाजारमेंबाहरसेआनेवालेव्यापारियोंकीगिनतीकमहुईहैमेराभीकामठंडाहोगया।

अमरीकसिंह,दुकानदार

बाजारकेहालातकबसंभलेंगेदुकानदारसमझहीनहींपारहे।बैगकेकारोबारकोकोरोनाकीवजहसेसबसेबड़ीमारपड़ीहै।एकतोस्कूलबंदरहेऔरदूसरालोगोंनेसफरनहींकिया।

विजयकुमार,दुकानदार

कपड़ेपरसरकारनेएकजनवरी2022सेटैक्स5फीसदसेबढ़ाकर12फीसदकरनेकाफैसलाकियाहै।इससेतोछोटेव्यापारीखत्महोजाएंगे।सभीदुकानदारइसफैसलेपरेशानहैं।

परमिदरसिंह,दुकानदार

By Duncan