नईदिल्‍लीकोरोनावायरसमहामारीरोजसैकड़ोंभारतीयोंकोशिकारबनारहीहै।केंद्रीयस्वास्थ्यमंत्रालयकेअनुसार,पिछले24घंटोंमेंकोरोनाके773नएमामलेसामनेआएहैं।इसदौरान32लोगोंनेअपनीजानगंवाई।देशमें5हजारसेज्‍यादापॉजिटिवकेसेजहैं,डेढ़सौलोगमारेजाचुकेहैं।केंद्रसरकारनेपूरेदेशमें21दिनकालॉकडाउनकियाथा,मगरमामलेबढ़तेजारहेहैं।कुछजगहतोऐसीहालतहैकिपूरेइलाकेमेंकर्फ्यूलगानापड़जारहाहै।कईइलाकोंकोसीलकियागयाहै।बुधवारकोउत्‍तरप्रदेशनेभी15जिलोंमेंहॉटस्‍पॉट्सकोपूरीतरहसीलकरनेकेऑर्डरदेदिए।इसकेबाद,यहांपरपैनिकफैलगया।लोगबड़ीसंख्‍यामेंदुकानोंपरनिकलआए।आखिरलॉकडाउनहैतोसीलकरनेकीजरूरतक्‍याहै?दोनोंमेंक्‍याफर्कहै?लॉकडाउनकेबावजूदपड़ीसीलिंगकीजरूरतलॉकडाउनकेदौरान,जरूरीसामानलेनेबाहरजासकतेहैं।फल,सब्जियां,राधन,दूध,दवाइयोंकेलिएबाहरजानेकीइजाजतहोतीहै।इमरजेंसीसर्विसेजचलतीरहतीहैं।मगरबेवजहघरोंसेनिकलनेपरकानूनीरोकहै।देशमेंलॉकडाउनतो25मार्चसेलागूहै,इसकेबावजूदइसीपीरियडमेंमामलेतेजीसेबढ़रहेहैं।महाराष्‍ट्र,राजस्‍थान,केरल,मध्‍यप्रदेश,दिल्‍लीकाहालबेहदबुराहै।इंदौर,भीलवाड़ाजैसेशहरोंमेंतोलॉकडाउनकेबावजूदमामलेरुकनेकानामनहींलेरहेथे।तोअपनायागयाइससेआगेकास्‍टेप।यानीकर्फ्यूऔरसीलिंग।सख्‍तीज्‍यादा,छूटबिल्‍कुलनहींजिनइलाकोंसेकोरोनामामलोंकाविस्‍फोटहुआ,वहांसबकुछसीलकरदियागया।लोगोंकोघरोंसेबाहरनिकलनेपरपूरीतरहपाबंदीलगादीगई।दूध-राशनकेलिएभीनहीं।सबदुकानेंबंदकरादीगईं।डोर-टू-डोरस्‍क्रीनिंगशुरूकीगई।संदिग्‍धलोगोंकेसैंपललिएगए।हरपॉजिटिवकेसकीकॉन्‍ट्रैक्‍टट्रेसिंगहुईताकिकोईछूटनाजाए।कुछमिलाकरइनइलाकोंकोबाकीदुनियासेभौतिकरूपसेकाटदियागया,ताकिसंक्रमणइनइलाकोंसेबाहरनाजाए।यहीयूपीकेउनजिलोंमेंभीहोगा,जहांहॉटस्‍पॉट्ससीलकरनेकेआदेशदिएगएहैं।कईजिलोंमेंहालातऐसेबनेकिपूरेजिलेकोसीलकरनापड़ा।भीलवाड़ाऔरइंदौरइसकेसबसेबड़ेउदाहरणहैं।क्याहैकोरोनासेजंगका'भीलवाड़ामॉडल'हरजिलेकेलिएबनाप्‍लानगृहमंत्रालयकेएकअधिकारीनेकहाकिहॉटस्पॉटकेरूपमेंपहचानेजानेवालेक्षेत्रोंमेंप्रभावीलॉकडाउनउपायोंकोअपनायाजारहाहै।संक्रमणपरजागरूकताअभियानभीजारीहै।भारतीयचिकित्साअनुसंधानपरिषद(ICMR)केएकअधिकारीनेकहाकि139सरकारीलैब्‍सऔर65प्राइवेटलैब्‍समेंएकदिनमें13,345टेस्‍ट्सकिएजारहेहैं।स्वास्थ्यमंत्रालयनेकहाकिकोविड-19रोगियोंकेइलाजकेलिएस्टेडियमोंकाउपयोगभीकियाजासकताहै।संक्रमणकेप्रसारकीचेनकोतोड़नेकेलिएदेशमेंप्रत्येकजिलेकेलिएकार्ययोजनाबनाईगईहै।अबतक1.21लाखटेस्‍टकिएहैं।मंत्रालयनेकहाकिदेशमें'हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन'कापर्याप्तभंडारहै।केंद्रीयस्वास्थ्यमंत्रालयकेसंयुक्तसचिवलवअग्रवालनेकहाकिदेशमेंकोविड-19मामलोंकीबढ़तीसंख्याकोदेखतेहुएसरकारकीप्रतिक्रियाऔरतैयारीतेजहोगईहै।यूपीकोरोनासीलिंग:पूराजिलानहीं,हॉटस्पॉटहोंगेसीललॉकडाउनआगेबढ़जाएगा?कोरोनावायरसकेमामलेजिसतरहसेबढ़रहेहैं,उसेदेखतेहुएलॉकडाउनहटनेकीसंभावनाबेहदकमहै।बुधवारकोसर्वदलीयबैठकमेंभीयहीबातसामनेआईकि80फीसदीराजनीतिकपार्टियांलॉकडाउनजारीरखनेकेपक्षमेंहैं।खुदप्रधानमंत्रीमोदीनेकहाकि'राज्य,जिलाप्रशासनऔरविशेषज्ञोंनेवायरसकेप्रसारकोरोकनेकेलिएलॉकडाउनकेविस्तारकासुझावदियाहै।'पीएममोदीनेमीटिंगमेंकहाकिदेशमेंस्थिति'सामाजिकआपातकाल'केसमानहै।इसकेलिएकड़ेफैसलोंकीजरूरतहैऔरहमेंनिरंतरसतर्करहनाचाहिए।उन्‍होंनेकहाकिकोरोनावायरसकेखिलाफलंबीलड़ाईहै।सभीकीजिंदगीबचानासरकारकीप्राथमिकताहै।पीएमने11अप्रैलकोमुख्यमंत्रियोंकीबैठकबुलाईहै।इसीमेंलॉकडाउनएक्‍सटेंशनपरफैसलाहोसकताहै।भारतमेंकहां,कितनाफैलाकोरोना,यहांदेखिएपूरीलिस्ट'चरणबद्धतरीकेसेहटेलॉकडाउन'कांग्रेसशासितज्यादातरराज्यलॉकडाउनकोजल्दबाजीमेंनहीं,बल्किचरणबद्धतरीकेसेहटाएजानेकेपक्षमेंहैं।पुडुचेरीकेमुख्यमंत्रीवी.नारायणसामीलॉकडाउनकोबढ़ानेकेसंबंधमेंकेंद्रकोपत्रलिखनेकेलिएतैयारहैं।अशोकगहलोतनेमंगलवारकोकहा,"प्रधानमंत्रीकेसाथवीडियोकॉन्फ्रेंसकेबादमैंनेदोटास्कफोर्सकागठनकियाहै,क्योंकिजिंदगियांमायनेरखतीहैं।एकअन्यटास्कफोर्सकोलॉकडाउनकेमुद्देकोदेखनेकेलिएगठितकियागयाहै,ताकिचरणबद्धतरीकेसेइसेहटायाजासके।"छत्तीसगढ़केमुख्यमंत्रीनेभीप्रधानमंत्रीकोपत्रलिखाहैकिलॉकडाउनउठानेसेपहलेएकरणनीतितैयारकरनीचाहिए।मध्‍यप्रदेश,कर्नाटक,उत्‍तरप्रदेशऔरउत्‍तराखंडजैसेभाजपाशासितराज्‍यभीलॉकडाउनजारीरखनेकीमंशाजाहिरकरचुकेहैं।

By Finch