नईदिल्लीजम्मू-कश्मीरकेपुलवामाजिलेमेंआतंकियोंकेसाथमुठभेड़मेंसातआमनागरिकोंकीमौतमोदीसरकारकीमुश्किलेंबढ़ासकतीहै।एकतोपीडीपी-बीजेपीकागठबंधनटूटनेकेबादकश्मीरपहलेसेहीराजनीतिकअनिश्चिततासेगुजररहाहै।आमनागरिकोंकीमौतकेबादकेंद्रीयजांचएजेंसियोंकोडरहैकिस्थानीयस्तरपरनिगेटिवसेंटिमेंटऔरभीबढ़ेगा।ऐसेमेंकेंद्रसरकारकेलिएजनकेंद्रितप्रयासोंमेंमुश्किलेंखड़ीहोसकतीहैं।शनिवारकोहुएएनकाउंटरमें7स्थानीयनागरिकोंकीमौतकेबादअलगाववादियोंनेबंदकाऐलानकियाहै।सुरक्षाबलोंनेसतर्कताकेतौरपरपुलवामाऔरश्रीनगरमेंरविवारकोसेक्शन144लगादीहै।पुलवामासहितपूरेदक्षिणकश्मीरमेंसीआरपीसीकीटुकड़ियांतैनातहैं।प्रशासनकाकहनाहैकिस्थितिनियंत्रणमेंहै,लेकिनअतिरिक्तसतर्कताबरततेहुएकुछकदमउठाएगएहैं।केंद्रीयसुरक्षाएजेंसीकेएकवरिष्ठअधिकारीनेबतायाकिरमजानसीजफायरकोखत्मकरनेऔरपीडीपीकेसाथबीजेपीकेगठबंधनटूटनेकेबादसेसूबेमेंराजनीतिकअस्थिरताकामाहौलहै।पिछलेछहमहीनेसेजम्मू-कश्मीरमेंनईसरकारबनानेकीकोशिशदेखीगई।फिरपीडीपीऔरएनसीकेप्रेशरटैक्टिसकेबादराज्यपालनेविधानसभाकोभंगकरदिया।अधिाकारीनेबतायाकिराजनीतिकगतिरोधकेबीचकश्मीरीलोगोंकाविश्वासजीतनेकेलिएकेंद्रसरकारकेप्रयासआउटऑफफोकसहोगए।अबलोकसभाऔरविधानसभाचुनावनजदीकहैं।ऐसेमेंइसबातकीआशंकाहैकिस्थानीयस्तरऐसेनिगेटिवसेंटिमेंट्सफिरमजबूतहोसकतेहैंजिनकीवजहसेयुवाआतंककारास्तापकड़तेहैं।इससालदशकमेंसबसेअधिकमारेगएआतंकीउधर,सुरक्षाबलोंनेअपनेसटीकइंटेलिजेंसऑपरेशनोंकीबदौलतकश्मीरमेंआतंककीकमरतोड़नेकाकामकियाहै।खासकरराज्यपालशासनमेंआतंकविरोधीअभियानतेजहुएहैं।पिछलेएकदशककीबातकरेंतोइससालसबसेअधिकआतंकीमारेगएहैं।हालांकिइंटेलिजेंसकेएकअधिकारीनेबतायाकिआतंकियोंकोमारेजानेकाएकनिगेटिवअसरयहभीहैकिज्यादायुवकआतंककीराहपरजातेहैं।उनकेमुताबिक2018मेंकुछमहीनोंमेंजहां10युवकोंनेआतंकीसंगठनोंकाहाथथामा,वहींदूसरेमहीनेंमें30-30युवकभीआतंककेरास्तेपरगए।अधिकारीनेकहाकिऐसेनिगेटिवसेंटिमेंट्सपरकंट्रोलकीजरूरतहैलेकिनअप्रैल-मई2019तकदिखरहीराजनीतिकअस्थिरताकीवजहसेलोगोंकोकेंद्रमेंरखयोजनाएंचलानीमुश्किलहैं।

By Douglas