हरपालपुर:सरकारभलेहीप्रवासीमजदूरोंकोउसकेगांवमेंहीमनरेगाकेतहतकामदेनेकादावाकररहीहो,लेकिनयोजनापरप्रधानवसचिवशासनकेनिर्देशोंपरपानीफेरतेनजरआरहेहैं।विभिन्नप्रांतोंसेवापसलौटेतीसहजारसेअधिककामगारोंमेंमहज887श्रमिकोंकोहीमनरेगाकेतहतरोजगारमिलसकाहै।

हरपालपुरब्लॉककी63ग्रामपंचायतोंमेंमनरेगाकेतहतसभीग्रामपंचायतोंमेंकार्यकीशुरुआततोकरादीगईहै,लेकिनप्रवासीश्रमिकोंकोकामदेनेकेलिएग्रामपंचायतेंअभीभीनजरअंदाजकररहीहैं।मनरेगाकेतहतपूरेब्लॉकमें38,404श्रमिकपंजीकृतहै।अबतक3,819श्रमिकोंकोरोजगारदियागयाहै।जिसमें887प्रवासीश्रमिकशामिलहैं।वित्तीयवर्ष2020-21केलिए5,75,000मानवदिवससृजितकिएगएहैं।जिसमेंअबतककरीब40हजारमानवदिवसकालक्ष्यपूराहोचुकाहै।क्षेत्रमेंइससमयबेड़ीजोरमें211,भटौलीघारम188,धनियामऊ155,दयालपुर148,टिलियाघटवासा147,परचौली143,बर्रा142,गौरिया131,रोशनपुर110श्रमिककामकररहेहैं।वहीमुरबाशहाबुद्दीनपुर23,बेहटालाखी23,कठेठा21,सरेसर17,धर्मपुरग्रामपंचायतमेंमात्र15श्रमिककामकररहेहैं।ग्रामीणोंकेमानेतोमनरेगामेंरोजगारदेनेकेनामपरकागजीखानापूर्तिकीजारहीहै।धरातलपरआधेसेकममजदूरहीनजरआरहेहैं।खंडविकासअधिकारीविद्याशंकरकटियारनेबतायाकिलगातारमनरेगाकार्योंकानिरीक्षणकियाजारहाहै।यदिकहींसेभीकोईशिकायतप्राप्तहोतीहैतोउसकीजांचकराकरजिम्मेदारोंपरकड़ीकार्रवाईकीजाएगी।

By Farrell