प्रतापगढ़:लोगआतेहैं,लोगजातेहैं,सारीदुनियाकाबोझहमउठातेहैं..।अमिताभबच्चनअभिनीतकुलीफिल्मकायहगीतप्रतापगढ़केकुलियोंकेलिएअबबेमानीहोगयाहै।कईट्रेनोंकेबंदहोनेवलगेजकममिलनेसेयहफांकाकरनेकोविवशहोगएहैं।उनसेअपनीगृहस्थीतककाबोझनहींउठायाजारहाहै।

प्रतापगढ़जंक्शनपरएकजमानेमें62कुलीरहाकरतेथे।लगेजकोढोनेसेउनकापरिवारपलताथा।तब26गाड़ियांइधरसेपासहोतीथीं।कोरोनाकालमेंइनमेंसेसबबंदहोगईं।फिरकुछहीचलीं।जनता,हरिद्वारएक्सप्रेसजैसीकईगाड़ियोंकेनचलनेसेकुलीरोजगारनहींपारहेहैं।अबयहांपरकेवलनौकुलीबचेहैं,बाकीपलायनकरगए।जोहैंभीउनकीरोजबोहनीहोजाएयहभीजरूरीनहीं।कुलीखुदहीबतातेहैंकिकाफीदिनोंसेकाशीविश्वनाथएक्सप्रेसऔरपंजाबमेलबीच-बीचमेंबंदहोजारहीहै।हरिद्वारएक्सप्रेसबंदहै।वाराणसीदेहरादूनजनताएक्सप्रेसबहुतदिनोंसेनहींचलरहीहै।जौनपुर-रायबरेलीएक्सप्रेसभीबंदहै।अयोध्या-प्रयागपैसेंजरभीबंदहै।यात्रीकमनिकलनेसेलगेजभीनहींमिलरहाहै,जिससेयहांकेकुलीभुखमरीकेकरीबपहुंचगएहैं।

स्टेशनपरबेहालमिलेकुलीराकेशमाली,रामअधारऔरदीपकवर्माकाकहनाहैकिकुलियोंकेलिएप्रतापगढ़जंक्शनपरकोईव्यवस्थानहींहै।नतोदिनमेंकहींबैठनेकीसहीजगहरेलवेनेदीहैऔरनरातमेंठहरनेकेलिएकमराहै।ऐसेमेंशामहोतेहीघरभागजानेकीमजबूरीहुआकरतीहै।कुलीपप्पूपटेल,रामबहादुर,शिवमूर्ति,मुन्नालाल,संजयपटेलजैसेकईकुलियोंनेभीऐसीहीबातबताई।

बनगएहैंपूछताछकेंद्र

कुलियोंकोरोजगारतोनहींमिलपारहाहै,लेकिनवहपूछताछकेंद्रकेरूपमेंइस्तेमालकिएजारहेहैं।स्टेशनपरआनेवालेयात्रीउनकोहीआगेपातेहैंउन्हींसेयहपूछनेलगतेहैंकियहट्रेनकबआएगी,वहट्रेनकबजाएगी।इनसवालोंसेवहपरेशानहोजातेहैं।सवालकरनेकेबादजवाबमिलतेहीयात्रीचलदेताहैऔरकुलीखड़ेरहजातेहैं।

By Elliott