कुंडहित(जामताड़ा):शनिवारकीशामकुंडहितक्वारंटाइनसेंटरमें14दिनपूराहोनेवाले18लोगोंकोअपनेघरजानेकेलिएमुक्तकियागया।छोड़ेगएलोगमेंजामताड़ाजिलेकेदोतथाअन्यजिलेके16शामिलहैं।लॉकडाउनहोनेकेबादभीबंगालसेकाफीसंख्यामेंप्रतिदिनप्रवासीमजदूरोंकाआनाजारीहै।जबकिसभीजिलाकीसीमापरपुलिसचेकनाकालगाकरआने-जानेवालेवाहनोंकेसाथलोगोंकोरोकरहीहै।इसकेबावजूदलोगगांवआदिकारास्तापकड़करप्रवेशकरजारहेहैं।

लगातरबंगालसीमासेझारखंडकेकुंडहितवअन्यप्रखंडक्षेत्रोंमेंप्रवासीमजदूरोंकाआनाजारीहै।शनिवारकोकुंडहितप्रखंडकेसुद्राक्षीपुरपंचायतकेपांचमजदूरपहलेबंगालकेव‌र्द्धमानजिलामेंमजदूरीकरनेगएथे।जहांलॉकडाउनकेकारणमजदूरोंकाकामबंदकरदेनेकेकारणमजदूरोंकेपासखाने-पीनेकीसमस्याउत्पन्नहोगईहै।इसवजहसेवेसारेमजदूरपैदलअपनेगांवकीचलदिए।तीन-चारदिनबाल-बच्चोंकेसाथपैदलचलनेकेबादअबगांवपहुंचरहेहैं।ऐसेलोगगांवमेंजैसेहीप्रवेशकररहेहैं,ग्रामीणलोगप्रशासनकोइसकीजानकारीदेरहेहैं।फिरउन्हेंक्वारंटाइनसेंटरमेंरखनेकीव्यवस्थाकीजारहीहै।बीडीओगिरिवरमिजनेबतायाकिकुंडहितक्वारंटाइनसेंटरमें42तथाबागडेहरीसेंटरमेंपांचलोगहैं।क्वारंटाइनसेंटरमेंरहरहेलोगोंकेलिएखाने-पीनेतथाअन्यसुविधामुहैयाकराईजारहीहै।

By Dyer