जागरणसंवाददाता,चित्रकूट:अक्सरहादसों,गंभीरबीमारियोंसेपीड़ितलोगोंकोअस्पतालपहुंचानेमेंमददगारवलाइफलाइनकेतौरपरपहचानरखनेवालीसरकारीएंबुलेंसअब¨जदगीकेलिएखतराबनचुकीहैं।आएदिनजिलाअस्पतालसेलेकरसामुदायिकवप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रों,ग्रामीणइलाकोंमेंमरीजोंवघायलोंकोलेजानेमेंअनदेखीकरनेकीशिकायतेंआमबातहोगईहैं।लखनऊसेइनकेसंचालनवनियंत्रणकीवजहसेस्वास्थ्यमहकमेकेअफसरभीअक्सरलाचारहोजातेहैंतोकईबारउनकीमानवीयसंवेदनाएंनहींदिखतीहैं।इससेलगातारसमस्याबरकरारहै।मंगलवारकोजिलेमेंटीबीपीड़िताकोलेजानेमेंहीलाहवालीवउसकीमौतइसकीबानगीहै।

गौरतलबहैकिजिलेकेअधिकांशक्षेत्रोंमें108व102एंबुलेंसदौड़रहीहैं।इनकेलखनऊस्थितनियंत्रणकक्षपरकॉलकरनेकेबादसेवाएंलीजासकतीहैंलेकिनअक्सरइनकेचालकवईएमटीखुदकोव्यस्तबताकरअनसुनीकरदेतेहैंजबकिखालीखड़ेहोतेहैं।इनमेंसेज्यादातरकेजीपीएससिस्टमखराबहोनेकेकारणकंट्रोलरूमकोभीअसलीस्थितिनहींपताचलपातीहै।इसकाफायदाचालकउठातेहैं।डीजलबेचकरखूबकमाईभीकरतेहैं।कौनएंबुलेंसकिसकेलिए

102एंबुलेंस:यहगर्भवतीमहिलाओंकोप्रसवकेलिएजिलाअस्पताल,सामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रोंपरलानेवघरतकछोड़नेकेकामकेलिएहोतीहैं।इनकाइस्तेमालइसकाममेंलगातारहोरहाहैपरअक्सरयहठेंगादिखादेतेहैं।

108एंबुलेंस:यहसामान्यमरीजोंकेसाथदुर्घटनामेंघायल,तेजबुखारयाअन्यकिसीबीमारीसेगंभीररूपसेपीड़ितकेलिएहै।इनकाइस्तेमालदुर्घटनास्थलसेघायलकोप्राथमिकवसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रऔरजिलाअस्पतालपहुंचानेकेलिएहोताहै।जिलेमें26एंबुलेंसदौड़तीं

जिलेमें102एंबुलेंसवाहनोंकीसंख्या15है।इनकोअलग-अलगइलाकोंकीजिम्मेदारीसौंपीगईहै।इसीतरह108एंबुलेंसकीसंख्यानौहै।एडवांसलाइफसपोर्टएंबुलेंसकीसंख्यादोहै।इसतरहकुल26एंबुलेंससड़कपरदौड़रहीहैं।अफसरबोले

मुख्यचिकित्साअधिकारीडा.राजेंद्र¨सहनेबतायाकिएंबुलेंसकासंचालनलखनऊसेहोनेकेकारणअक्सरसमस्याएंहोतीहैं।चालकवईएमटीवहांसेकॉलकेआधारपरबताएगएपतेपरपहुंचतेहैं।सीएमएसडा.राजेशखरेनेबतायाकिसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रऔरजिलाचिकित्सालयसेहायरसेंटरकेलिएमरीजकोपहुंचानेकेलिएचिकित्सककीसलाहपरएंबुलेंसयाअन्यकीजरूरतहोतीहै।एडवांसलाइफसपोर्टएंबुलेंस(एएलएस)केलिएअलगसेकालकरनेकीजरूरतनहींहोतीहै।102और108परहीकालहोतीहै।इसकेबादचिकित्सककीसलाहपरएएलएससंबंधितमरीजकोउपलब्धकरादीजातीहै।