गोरखपुर,जागरणसंवाददाता।परिषदीयस्कूलोंकेबच्चोंकोयूनीफार्मबनवाकरदेनेसेप्रधानाध्यापकोंकोराहतमिलगईहै।इससत्रसेयूनीफार्महीनहींजूता-मोजा,बैंगसभीकेपैसेअभिभावकाेंकेखातेमेंसीधेआनलाइनस्थानांतरितकिएजाएंगे।शासननेबीएसएकोप्रेरणापोर्टलपरउपलब्धबच्चोंकेमाता-पिताकेशैक्षिकसत्र-2021-22केबैंकखाताकाब्योराउपलब्धकरानेकेनिर्देशदिएहैं।इसकेतहतजनपदकेसाढ़ेतीनलाखबच्चेलाभान्वितहोंगे।जिनकेअभिभावकोंकेखातेमेंधनराशिसरकारसीधेभेजेगी।शासनस्तरपरइसकीयोजनाबनचुकीहै।

शासननेबीएसएकोअभिभावकोंकेबैंकखातेकाब्योराएकत्रकरनेकेदिएनिर्देश

कोरोनाकेकारणशैक्षिकसत्र2021-22मेंस्कूलतोखुलेथे,लेकिनबच्चोंकोस्कूलनहींबुलायाजारहाथा।एकसितंबरसेपठन-पाठनकेलिएबच्चोंकास्कूलआनाशुरूहुआहै।इसलिएअभीतकड्रेस,जूते-मोजूआदिकावितरितनहींहोसकाहै।अभीतकइनकीकेंद्रीयकृतखरीदहोतीथी।इसकेबादमंडल,जनपदऔरफिरब्लाकवारवितरणहोताथा।स्कूलतकइनकेपहुंचनेकीएकलंबीप्रक्रियाथी।इसीकोआसानबनानेकेलिएविभागनेसीधेबच्चोंकेखातोंमेंपैसाभेजनेकाफैसलालियाहै।जिससेअभिभावकअपनेबच्चोंकेलिएजल्दयूनिफार्म,स्वेटर,जूते-मोजेखरीदसकें।

अभिभावकोंकेखातेमेंभेजेजाएंगे1056रुपये

इससत्रसेनईव्यवस्थाकेतहतप्रत्येकअभिभावककेखातेमें1056रुपयेभेजेजाएंगे।जिससेअभिभावकअपनेबच्चेकेलिएस्कूलड्रेस,जूता-मोजावस्कूलबैगखरीदसकेंगे।1056रुपयेमें600यूनिफार्म,200स्वेटर,135जूते,21मोजेतथा100रुपयेस्कूलबैगकेमदमेंशामिलहैं।पैसाडायरेक्टबैनिफिटट्रांसफर(डीबीटी)केमाध्यमसेअभिभावकोंकेखातोंमेंभेजाजाएगा।

शासनकेनिर्देशपरस्कूलोंमेंपंजीकृतबच्चाेंकाब्योराप्रेरणाएपपरअपलोडकरनेकीप्रक्रियाशुरूकरदीगईहै।सभीखंडशिक्षाधिकारियोंकोजल्दसेजल्दपंजीकरणकाकार्यपूर्णकरनेकेनिर्देशदिएगएहैं।-आरकेसिंह,बीएसए।

By Fisher