नईदिल्ली।पर्यावरणवेबसाइटकार्बनब्रीफकेविश्लेषणकेअनुसारदेशमेंनवीकरणीयऊर्जामेंप्रतिस्पर्धाऔरबिजलीकेगिरतेउपयोगसेजीवाश्मईंधनकीमांगकमजोरपड़गईहै।हालांकियहट्रेंडकोरोनावायरसकेहिटहोनेसेपहलेहीहै,लेकिनमार्चमेंकोरोनावायरसप्रेरितदेशव्यापीलॉकडाउनकीअचानकघोषणानेअंततःदेशकी37सालकीउत्सर्जनवृद्धिकीप्रवृत्तिकोउल्टाकरदियाहै।

अध्ययनमेंपायागयाहैकिभारतीयकार्बनडाइऑक्साइडउत्सर्जनमार्चमें15फीसदीकीगिरावटदर्जहुईहैऔरअप्रैलमेंइसमें30फीसदीतकगिरनेकीसंभावनाहै।वस्तुतःबिजलीकीकुलमांगमेंकमीकोयलाआधारितजनरेटरद्वारावहनकियागयाहै,जोबताताहैकिउत्सर्जनमेंकटौतीइतनीनाटकीयक्योंहुईहै।

लॉकडाउन:भारतीयउद्योगकेराजस्वमें40%गिरावटकीउम्मीद,उबरनेमेंपूरासाललगेगा

भारतीयराष्ट्रीयग्रिडकेदैनिकआंकड़ोंकेअनुसारमार्चकेपहलेतीनहफ्तोंमेंकोयलाआधारितबिजलीउत्पादनमार्चमें15फीसदीऔर31फीसदीनीचेथा।हालांकिकोरोनावायरसप्रेरितलॉकडाउनसेपहलेभीकोयलेकीमांगकमजोरथी।

अध्ययनसेपताचलताहैकिमार्च2020मेंसमाप्तहोनेवालेवित्तीयवर्षमेंकोयलेकीडिलीवरीमेंलगभग2फीसदीकीकमीआई,यहीएकछोटीकमीथीलेकिनप्रवृत्तिकेखिलाफयहगिरावटमहत्वपूर्णथी,क्योंकिपिछलेदशकमेंप्रतिवर्षकीतापीयबिजलीउत्पादनमें7.5फीसदीवृद्धिहुईथी।

Covid19:दांंवपरहैदुनियाभरमें160करोड़लोगोंकीनौकरी:संयुक्तराष्ट्रश्रमनिकाय

यहीनहीं,इसदौरानभारतीयतेलकीखपतकीमांगवृद्धिमेंसमानकमीदिखाईदेतीहै,जोवर्ष2019कीशुरुआतसेहीधीमारहाहैऔरपरिवहनउद्योगोंपरCovid-19लॉकडाउनउपायोंकेप्रभावोंनेएकबारफिरसेप्रवृत्तिकोजटिलबनादियाहै।

गौरतलबहैमार्च2020मेंसाल-दर-सालतेलकीखपतमें18फीसदीकीकमीआईथी।इसबीचनवीकरणीयऊर्जाकीआपूर्तिसालदरसालअधिकहोतीगईहै।महामारीकेबादसेउसमेंइजाफाहुआहै।नवीकरणीयऊर्जाक्षेत्रकायहलचीलापनदर्शाताहैकिकोरोनोवायरसकीवजहसेमांगमेंअचानककमीभारतकेलिएसीमितनहींहै।

लॉकडाउनआगेखिंचताहैतोकोरोनावायरससेज्यादाभूखलोगोंकोमारडालेगी:नारायणमूर्ति

अंतर्राष्ट्रीयऊर्जाएजेंसी(IEA)द्वाराअप्रैलकेअंतमेंप्रकाशितआंकड़ोंकेअनुसारवर्षकीपहलीतिमाहीमेंकोयलेकीदुनियाकाउपयोग8फीसदीथाजबकिइसकेविपरीतअंतरराष्ट्रीयस्तरपरपवनऔरसौरऊर्जाकीमांगमेंमामूलीवृद्धिदेखीगई।

मानाजाताहैकिकोयलेसेनिर्मितबिजलीकीमांगमेंगिरावटकीवजहदिन-प्रतिदिनकेआधारपरचलानेकेलिएइसकीअधिकलागतहै।यानीएकबारजबआपएकसौरपैनलयापवनटरबाइनस्थापितकरलेतेहैं,तोउसकीपरिचालनलागतबहुतकमहोतीहै,इसलिएनवीकरणीयबिजलीग्रिडप्राथमिकतामिलतीहैं।

लॉकडाउन:कांट्रेक्टश्रमिकोंपरगिरीबड़ीगाज,बिनाभुगतानगुजारेकोमजबूरहुए12करोड़श्रमिक

चूंकिकोयला,गैसयातेलद्वारासंचालितथर्मलपावरस्टेशनसेबिजलीपैदाकरनेकेलिएईंधनखरीदनेकीआवश्यकताहोतीहै,लेकिनविश्लेषकोंनेचेतावनीदीहैकिजीवाश्मईंधनकेउपयोगमेंगिरावटखत्मनहींहोसकताहै।वेकहतेहैंकिजबमहामारीथपजातीहै,तोउत्सर्जनबढ़नेकोजोखिमबढ़ेगा,क्योंकिदेशअपनीअर्थव्यवस्थाओंकोकिक-स्टार्टकरनेकाप्रयासकरतेहैं।

यहभीपढ़ें-रिपोर्टमेंखुलासा,सितंबर2020तकभारतमेंCovid-19केहोसकतेहैं111करोड़मामले

By Edwards