आंशिकलॉकडाउनमेंलोगघरोंमेंरहरहेहैं।ऐसेमेंइसऑनलाइनक्लाससेशहरहीनहीं,गांवकेलोगभीजुड़रहेहैं।योगक्लासमेंशामिलहोनेवालेलोगोंकाकहनाहैकियोगकरनेसेउनकेजीवनमेंसकारात्मकपरिवर्तनदेखनेकोमिलरहाहै।कोरोनासंक्रमणसेजुड़ीखबरोंकेकारणउनकेमनमेंनिराशाघरकररहीथी।डरकामाहौलबनरहाथा।योगसेवेमानसिकरूपसेस्वस्थमहसूसकररहेहैं।कोडरमाजिलायोगसंघकेजिलासचिवआकाशकुमारसेठबतातेहैं,कोरोनासंक्रमणसेजूझरहेमरीजोंकोप्राणायामअवश्यकरनाचाहिए।

इससेनवजीवनकासंचारहोताहै।साधककेचारोंओरप्रखरआभामंडलतैयारहोजाताहैजोअभेद्यसुरक्षाकवचकीतरहबीमारियोंसेबचाताहै।यहसंक्रमणसेहोनेवालीशारीरिककमजोरीकोदूरकरनेकेसाथ-साथमरीजकोऊर्जाकाअनुभवदिलाताहै।याेगकेभ्रष्स्तिका,कपालभाति,अनुलोमविलोम,भ्रामरीआदिआसनरोजकरनेसेनिरोगरहनेमेंमददमिलतीहै।योगकरतेसमयप्राणायामकेबादअपनीआंखेंबंदरखेंऔरअपनेललाटपरओमकाध्यानरखें।

शरीरकीप्रतिरोधकक्षमताहोगीबेहतर

कोरोनाकावायरसउनलोगोंकोजल्दीशिकारबनाताहैजिनकीप्रतिरोधकक्षमताकमजोरहोतीहै।ऐसेमेंरोजयोगकरनेसेशरीरकीप्रतिरोधकक्षमताबढ़ाईजासकतीहै।कपालभातिरोजानाकरीबपांचमिनटकरनेसेशरीरकीप्रतिरोधकक्षमताबेहतरहोगी।इससेआपकिसीभीतरहकेसंक्रमणसेबचेरहेंगे।इसप्रक्रियामेंबैठकरसांसलेतेहैंऔरछोड़तेहैं।सांसलेतेसमयऔरछोड़तेसमयपेटपरजोरदियाजाताहै।वहींअनुलोमविलोमनियमितरूपसेकरनेसेसर्दी,खांसीऔरजुकामतकनहींहोताहै।यहहमारीश्वसनक्रियाकोबेहतरबनाताहै।भस्त्रिकाप्राणायामकरनेसेशरीरकीकोशिकाएंस्वस्थबनीरहतीहैं।इसमेंगहरीसांसलीजातीहै।यहफेफड़ोंकोभीमजबूतबनाताहैऔरखूनकोभीसाफकरताहै।

ऑनलाइनयोगशिविरशुरू

पतंजलियुवाभारतहरिद्वारकीझुमरीतिलैयाशाखाद्वारा15दिवसीयऑनलाइनयोगशिविरशुरूकियागयाहै।योगीसुषमासुमननेबतायाकिकोरोनाजैसीमहामारीसेबचनेकेलिएदोरास्तेअपनानेजरूरीहैं।पहलायोगऔरदूसराआयुर्वेद।रोज90मिनटयोगकरनेसेबीमारीनहींहोगी।वहींजोआयुर्वेदिककाढ़ापीएगा,उसेपूरीएनर्जीमिलेगी।

By Field