संवादसहयोगी,मसलिया:उत्क्रमितउच्चविद्यालय(खैरबनी)केशिक्षककपिलदेवठाकुरकोजेपीएससीमें62वांरैंकमिलाहै।प्रशासनिकसेवामेंचयनहोनेपरघरकेलोगकाफीखुशहैं।शिक्षककपिलदेवनेकहाकिसमाजकेअंतिमव्यक्तितकसरकारीलाभमिलेइसीसोचकोलेकरवहइससेवामेंआएहैं।माताजीअबइसदुनियांमेंनहींरहींलेकिनस्वर्गीयमीरादेवीकासपनाथाकिबेटाएकअधिकारीबनकरगरीबोंकीसेवाकरे।आजउनकेआर्शीवादसेवहपूराहुआहै।पिताश्यामकुमारठाकुरभीसपनापूराहोनेसेकाफीखुशहै।कपिलदेवठाकुरकीपत्नीप्रियंकाकुमारीनेकहाकिपतिकेसाथहमेशाउनकेनिर्णयपरअडिगरही।पतिकोअधिकारीबनानेकेलिएपरिवारकेसभीकार्योंसेमुक्तकरपढ़ाईकेलिएपूरासमयनिकालकरउनकोदेतीरही।आजवहकाफीखुशीहैं।मायकेवालेभीकाफीखुशीहैं।ससुरललितकुमारठाकुरनेबतायाकिहमलोगोंकापरिवारएकसामान्यपरिवाररहाहै।परिवारमेंकोईभीसदस्यप्रशासनिकअधिकारीनहींबनाथा।दामादकोप्रशासनिकपदाधिकारीकेरूपमेंदेखकरअपनेकोगौरवान्वितएवंसम्मानितमहसूसकररहेहै।जानकारीहोकिजेपीएससीमेंउत्तीर्णभावीअधिकारीगोड्डाकेलखंपहाड़ीगांवकेहैं।2000मेंशिक्षकबनेथे।

By Doyle