संवादसहयोगी,लोहाघाट:जिलेकेमानेश्वरस्थिततिलौनकेजंगलोंमेंबुधवारसुबहभीषणआगलगगई।आगइतनीभयंकरथीकिवहकुछहीदेरमेंकाफीबड़ेइलाकेमेंफैलगई।ग्रामीणोंकीसूचनाकेबादस्थानीयलोगोंवफायरकर्मियोंकीमददसेघंटाोंकीमशक्कतकेबादआगपरकाबूपायाजासका।

ग्रामीणोंनेबतायाबुधवारजंगलोंकोअराजकतत्वोंनेआगकेहवालेकरदिया।आबादीक्षेत्रकीतरफबढ़रहीजंगलकीविकरालआगकोदेखकरक्षेत्रकेलोगोंनेफायरस्टेशनकोसूचनादी।तबतकदोहेक्टेयरजंगलराखहोगया।दलबलकेसाथफायरयूनिटमयअग्निशमनवाहनकेसाथघटनास्थलस्थलपरपहुंची।अग्निशमनवाहनकाघटनास्थलपरपहुंचपानासंभवनहींहोपारहाथा।फायरयूनिटनेअग्निशमनवाहनकोसड़कपरखड़ाकरजंगलकीतरफरूखकिया।एककिनारेसेआगकोबुझानाशुरूकियापेड़कीटहनियोंएवंफायररैकसेआगकोबुझायागयातथाफायरलाइनकाटीगई।इसदौरानएलएफएममोहनसिंहथापा,सुनीलजोशी,पंकजसिंह,गोविंदपनेरू,हरीशचम्याल,प्रमोदकुमार,भैरवसिंहटीममेंशामिलथे।

जंगलोंमेंआगसेजानवरोंकीशामत

लोहाघाट:जंगलोंमेंलगीआगकेकारणअबवन्यजीवआबादीवालेइलाकोंकारुखकरनेलगेहैं।ग्रामीणोंनेबतायाकिवहबंदरऔरजंगलीसुअरोंकेआतंकसेवैसेहीपरेशानथे।वहींअबजंगलोंकीआगकेकारणअबगुलदारसमेतअन्यवन्यजीवभीआबादीकीओररुखकरनेलगेहैं।वनाग्निकीइनघटनाओंमेंकईछोटेवन्यजीवआगकीचपेटमेंआरहेहैंऔरजोभागकरअपनीजानबचासकतेहैंवहगावोंकीओरआनेलगेहैं।

दिनभरछाईरहीधुंध

लोहाघाट:पिछलेदोदिनोंसेगर्मीकापारालगातारबढ़ताजारहाहै।इसकाअसरपहाड़ीक्षेत्रोंकेजंगलोंपरभीदेखनेकोमिलरहाहै।स्थितियहहैकिपिछलेकईदिनोंसेजंगलसुलगरहेहैं।धुएंकेगुबारकेकारणआसपासकेग्रामीणोंकोभीपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।ग्रामीणोंनेबतायाकिजंगलोंमेंआगलगनेसेक्षेत्रमेंगर्महवाएंचलरहीहैं।साथहीजंगलोंमेंबनेप्राकृतिकजलस्रोतभीनष्टहोतेजारहेहैं।ऐसेमेंउनक्षेत्रकेग्रामीणोंकोपरेशानीहोरहीहै।जहाकेलोगपानीकेलिएप्राकृतिकस्रोतोंपरहीनिर्भरहैं।क्षेत्रमेंपूरेदिनधुंधसीछाईरहीजिसकेचलतेलोगोंकोश्वासलेनेमेंभीपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।

By Evans