धानकीटॉपड्रेसिगकेलिएकिसानोंकोयूरियानहींमिलरहीहै।बारिशकेबादयूरियाकीमांगबढ़गईहै,लेकिनसाधनसहकारीसमितियोंपरनहींहै।जिससेकिसानोंकोभटकनापड़रहाहै।जिम्मेदारयूरियाकीआवकबढ़ानेकेलिएपत्रलिखनेकीबातकहरहेहैं।जिलेमें62सहकारीसमितियांहैं।

सदरब्लॉककेचकवा,सेखुईकला,रामनगर,लिलवा,विशुनीपुर,श्रीनगरसमितियोंपरयूरियानहींहै।लिलवा,श्रीनगरवविशुनीपुरसमितिमेंडीएपीखादउपलब्धहै।श्रीदत्तगंजबाजारस्थितिसरकारीगोदाममेंतालाबंदहै।पुरैनावाजिदमेंरखीउर्वरकखराबहोगईहै।हरैयासतघरवाक्षेत्रकीमथुरावशिवपुरासाधनसहकारीसमितिमेंएकसप्ताहसेयूरियानहींहै।जबकिलालपुर,विशुनपुरवकोहड़ौरामेंस्टॉककमहै।ऐसेमेंकिसानभटकनेकोमजबूरहैं।घनश्यामवअशोककुमारकाकहनाहैकिसमितिसेखादनमिलनेकेकारणखुलेबाजारमें400सौरुपयेमेंखरीदनीपड़तीहै।गोपीश्यामवर्मा,छोटेलालवर्मा,सुशीलकुमार,शिवशंकर,रामदयालवराकेशकुमारकाआरोपहैकिमांगबढ़तेहीसमितियांखालीहोजातीहैं।इसकालाभउर्वरकविक्रेताओंकोमिलताहै।एडीओसहकारिताआनंदकाकहनाहैकियूरियाकीआवककमहुईहै,लेकिनदोदिनमेंसभीसमितियोंपरयूरियाउपलब्धकरादीजाएगी।