नईदिल्‍ली,अंशुसिंह। भारतमेंकमबजटमेंउच्चगुणवत्तावालाइलाजकरानेकेलिएएशियाई,यूरोपीयएवंअफ्रीकीदेशोंसेलोगआतेरहेहैं।जिसकेकारणदेशकोग्लोबलमेडिकलटूरिज्मकाहबमानाजाताहै।हालहीमेंगुजरातकेगांधीनगरमेंहुएवैश्विकआयुषनिवेशएवंनवाचारसम्मेलनमेंभीप्रधानमंत्रीनेदोहरायाकिआयुषकेक्षेत्रमेंनिवेशएवंइनोवेशनकीअसीमसंभावनाएंहैं।इसलिएदेशमेंआयुषचिकित्साकालाभलेनेआनेवालेविदेशियोंकेलिएसरकारविशेषआयुषवीजाशुरूकरनेजारहीहै।आनेवालेसमयमें28निजीकंपनियोंनेभीइसक्षेत्रमेंकरीब6000करोड़रुपयेकेनिवेशकीप्रतिबद्धताजतायीहै।जाहिरहै,यहमेडिकलटूरिज्मसेक्टरकेविकासकोबलदेगा।इससेलगभग5.5लाखनौकरियांसृजितहोनेकीसंभावनाभीहै।

वैश्विकमहामारीकेबीचदुनियाभरमेंस्वास्थ्यसेवाओंपरदबावबढ़ाहै।जानकारोंकीमानें,तोभारतआनेवालेविदेशीसैलानियोंमेंकरीबसातप्रतिशतमेडिकलटूरिस्टहोतेहैं।एसोसिएशनआफहेल्थकेयरप्रोवाइडर्सकेअनुसार,थाइलैंड,सिंगापुरकेसाथभारतभीमेडिकलटूरिस्ट्सकेलिएपसंदीदाडेस्टिनेशनमानाजाताहै।2019मेंसातलाखकेलगभगविदेशीइलाजकेलिएयहांआएथे।

वहीं,पर्यटनमंत्रालयकेअनुसार,कोविड-19केदस्तकदेनेसेपहलेभारतकेमेडिकलटूरिज्मसेक्टरके9बिलियनडालरकेआसपासपहुंचनेकीसंभावनाथी।लेकिनलाकडाउनवअन्यपाबंदियोंसेकाफीप्रभावपड़ा।जबअंतरराष्ट्रीयउड़ानेंदोबाराशुरूहुईं,तोमेडिकलटूरिज्मसेक्टरकोएकबारफिरसेगतिमिलीहै।आजहृदयसंबंधीरोगोंकेइलाजसेलेकरअंगप्रत्यारोपण,हेयरग्राफ्ट,कैंसरएवंन्यूरोसमेतविभिन्नप्रकारकीसर्जरीकेलिएविदेशीभारतआरहेहैं।

क्याहैमेडिकलटूरिज्म?

मेडिकलटूरिज्मकोमेडिकलट्रैवल,हेल्थएवंवेलनेसटूरिज्मभीकहतेहैं।इसमेंविश्वभरसेलोगविभिन्नचिकित्सकीयसेवाओंएवंपरामर्शकेलिएउनदेशोंकीयात्राएंकरतेहैं,जहांसस्तीएवंगुणवत्तायुक्तचिकित्सासेवाएंमिलतीहैं।विशेषज्ञचिकित्सकोंसेइलाजकेसाथहीवेउसदेशकीसांस्कृतिकविरासत,वहांकेखानपानएवंपर्यटकस्थलोंसेभीपरिचितहोतेहैं।कुछजानकारोंकेअनुसार,मेडिकलटूरिज्मवहहैजिसमेंनसिर्फमरीजोंकाइलाजहो,बल्किउन्हेंअपनेघरसेदूरघरजैसामाहौलमिले।घरजैसाएहसासहो।मेडिकलटूरिज्मप्रोवाइडरकोईसंगठनयाहेल्थकेयरसेक्टरमेंकामकरनेवालीकंपनीहोसकतीहै।वहीविदेशीमरीजोंकोअस्पतालों,क्लीनिकों,डाक्टरों,मेडिकलसुविधाओं,ट्रैवलएजेंसियों,रिजार्ट,मेडिकलएवंट्रैवलइंश्योरेंस,सुरक्षाएवंअन्यकानूनीमुद्दोंकीजानकारीदेतेहैं।फिलहालभारतमेंमेडिकलटूरिज्मकेतहतमुख्यरूपसेएलोपैथिकएवंआयुर्वेदिकइलाजकरायाजाताहै।

शैक्षिकयोग्यताएवंबेसिककुशलता

मेडिकलटूरिज्मसेक्टरकीअपेक्षाओंएवंजरूरतोंकेअनुरूप,युवाओंकोतैयारकरनेकेलिएशैक्षिकसंस्थानोंद्वाराकईप्रकारकेस्पेशलाइज्डकोर्ससंचालितकिएजातेहैं।जैसेआपमेडिकलटूरिज्ममेंएमबीए,पीजीडिप्लोमा,एमबीए(हेल्थमैनेजमेंट),एमबीए(ट्रैवलएवंटूरिज्ममैनेजमेंट),एमएससी(हेल्थकेयरएवंहास्पिटलएडमिनिस्ट्रेशन)आदिकरसकतेहैं।इसकेलिएकिसीभीस्ट्रीममेंग्रेजुएटहोनाहोगा।इसकेअलावा,12वींकेबादसर्टिफिकेटयाडिप्लोमाकोर्सभीकरसकतेहैं।वहीं,स्किल्सकीबातकरेंतोइसक्षेत्रमेंकरियरबनानेकेइच्छुकयुवाओंकोविभिन्नस्थानों,अस्पतालोंआदिकीटोपोग्राफीकीजानकारीकेसाथहेल्थकेयरएवंट्रैवलइंडस्ट्रीकीअच्छीजानकारीहोनीचाहिए।वेनियमएवंकानूनोंसेअवगतहोनेचाहिए।संवादकुशलताएवंभाषाकीसमझउत्तमहोनीचाहिए।सांगठनिकएवंनेतृत्वक्षमताहोनेसेयुवाओंकोस्थितियोंऔरलोगोंकोबेहतरमैनेजकरनेमेंआसानीहोगी।

संभावनाएंएवंविकल्प

भारतमेंमेडिकलटूरिस्ट्सकीबढ़तीसंख्याकोदेखतेहुएइसक्षेत्रमेंरोजगारकीढेरोंसंभावनाएंहैं।युवाहेल्थकेयरकेसाथ-साथहास्पिटैलिटी,ट्रैवलएवंएविएशनइंडस्ट्रीमेंभीकरियरबनासकतेहैं।वेहास्पिटलएडमिनिस्ट्रेटर,मेडिकलटूरकंसल्टेंट,स्पाथेरेपिस्ट,ट्रैवलएडवाइजर,इंश्योरेंसफेसिलिटेटर,एंटरप्रेटर,शेफआदिकेरूपमेंसरकारीवनिजीअस्पताल,ट्रैवलएजेंसी,स्पाएवंवेलनेससेंटर,एयरलाइंस,आयुर्वेदएवंनेचुरोपैथीसेंटर,होटल,इंश्योरेंसकंपनीमेंकामकरसकतेहैं।वर्तमानसमयमेंजिसतरहसेनेचुरोपैथीएवंयोगकाचलनबढ़ाहै,लोगप्राकृतिकचिकित्साकोतरजीहदेरहेहैं,उसेदेखतेहुएबतौरनेचुरोपैथीविशेषज्ञइसक्षेत्रमेंभीआगेबढ़नेकीबेहतरसंभावनाएंहैं।

18बिलियनडालरकाहोगयादेशमेंआयुषकाकारोबार,जो2014सेपहलेमात्रतीनबिलियनडालरकाथा।

‘हीलइनइंडिया’बनसकताहैइसदशककाबड़ाब्रांड

इंटरनेशनलइंस्टीट्यूटआफहेल्थमैनेजमेंटरिसर्च,दिल्ली

मेडावर्सिटी,तेलंगाना

इंस्टीट्यूटआफक्लीनिकलरिसर्च,दिल्ली

इंडियनइंस्टीट्यूटआफपब्लिकहेल्थ,गांधीनगर

दुनियामेंबढ़ीभारतकीविश्वसनीयता

भारतविश्वभरकेमरीजोंकोकिफायतीदरपरस्वास्थ्यसेवाएंउपलब्धकरातारहाहै।विगतवर्षोंमेंहमारेयहांकटिंगएजरिसर्च,उच्चस्तरीयस्वास्थ्यसुविधाओं,इंफ्रास्ट्रक्चरपरजोरदियागयाहै,जिससेमेडिकलटूरिज्मइंडस्ट्रीकोनईरफ्तारमिलीहै।मध्यएशियाएवंअन्यविकासशीलदेशोंकीसूचीमेंहमाराएकविशिष्टस्थानहै।कोविड-19केखिलाफजंगमेंजिसतरहसेदेशमेंरिसर्चएवंइनोवेशनहुए,उससेभारतनसिर्फदुनियाकावैक्सीनकैपिटलबनगया,बल्किदुनियाभरकेमरीजोंकीहमारेयहांकीस्वास्थ्यव्यवस्थापरविश्वसनीयताबढ़गई।इतनाहीनहीं,मेडिकलस्कूलसेनिकलनेवालेनवोदितचिकित्सकोंकोअत्याधुनिकबायोमेडिकलटेक्नोलाजीएवंमेडिसिनलएप्लीकेशंसकेप्रयोगकाअवसरमिला।इससेउनकीकार्यकुशलताबढ़ी।रेडियोलाजिस्ट्सएवंफार्मासिस्ट्सतकनवीनडायग्नोस्टिकइक्विपमेंटकेसंचालनमेंदक्षबने।इनसबनेचिकित्सकों,पैरामेडिकल्सकेसाथस्वास्थ्यएवंटूरिज्मसेक्टरसेजुड़ेकुशलपेशेवरोंकोरोजगारकेनएअवसरदिएहैं।वेआपरेशन,मार्केटिंग,मैनेजमेंट,लाजिस्टिकजैसेक्षेत्रोंमेंकार्यकररहेहैं।कहसकतेहैंकिमेडिकलटूरिज्मसेक्टरदिन-प्रतिदिनविकसितहोरहाहै।अनुमानयहहैकि2022केआखिरतकमेडिकलटूरिज्मसेक्टरकरीब13बिलियनडालरतकपहुंचजाएगा।

[हेल्दियंसके संस्थापक दीपकसहनी]