कमलकोहली,अमृतसर

सातअक्टूबरसे16अक्टूबरतकचलनेवालेश्रीलंगूरमेलेकेलिएमंगलवारकोकईपरिवारोंनेअपनेबच्चोंकेलिएलंगूरबननेवालेवस्त्रलिए।

श्राद्धकेदिनोंमेंलोगवस्त्रलेनेसेपरहेजकरतेहैं,परंतुमंगलवारकोमातामहालक्ष्मीकाव्रतहोनेकेकारणइसदिनकोशुद्धमानाजाताहै।इसलिएकाफीसंख्यामेंलंगूरबननेवालेबच्चोंकेमाता-पितानेश्रीदुग्र्याणातीर्थसेमिलनेवालीवस्तुओंकोपूरीधार्मिकपरंपराकेसाथलिया।वहींकईपरिवारोंनेबाजारोंसेभीलंगूरबननेकेवस्त्रखरीदें।

दसदिनोंतकचलनेवालेइसलंगूरमेलेमेंवेपरिवारजिनकेघरमेंठाकुरजीकीकृपासेसंतानपैदाहोतीहै,अपनीमनोकामनापूरीकरनेकेलिएबच्चोंकोलंगूरबनातेहैं।यहपरिवारश्रीदुग्र्याणातीर्थपरिसरमेंबनेश्रीवेदकथाभवनमेंलंगूरकेस्वरूपमेंसजनेवालीपोशाकेंवअन्यसामानलेनेआरहेहैं।

बच्चोंकेलिए900सेअधिकलोगलेचुकेहैंपोशाकें

मंदिरप्रबंधनकेअनुसारअबतकश्रीदुग्र्याणातीर्थसे900सेअधिकलोगबच्चोंकेलिएपोशाकेंलेकरजाचुकेहैं।इसबारकईपरिवारअपनीलड़कियोंकोभीलंगूरबनानेकेलिएपोशाकेंलेनेकेलिएआरहेहैं।तरुणकुमार,प्रियानिवासीहरिपुराऔरमंजीतकौरनिवासीतहसीलपुरानेबतायाकिवहलंगूरबननेकेलिएअपनीमाताकेसाथपोशाकेंलेनेआयेहैं।इसीतरहसीमानिवासीइस्लामाबादबतायाकिवहअपनेएकवर्षीयलड़केकोपहलीबारलंगूरबनारहीहैऔरउसकीकेलिएयहपोशाकेंलेनेआईहै।रेणुकावनरेशनिवासीलोहगढ़नेबतायाकिवहअपनेबेटेकोदूसरीबारलंगूरबनारहीहै।

श्रीवेदकथाभवनमेंबैठेपं.भास्करनेबतायाकिमंदिरपरिसरमेंअबतककरीब900परिवारपोशाकेंभक्तजनलेगएहै।भक्तजनोंकोरोजानासुबहनौसेदोपहरएकबजेतकतथासायंचारसेआठबजेतकपौशाकेंदीजातीहैं।लंगूरबननेकेलिएकुर्तापायजामा,छड़ी,टोपी,घुंघरूदिएजारहेहैं।श्रीगिरिराजसेवासंघकेसंजयमेहरानेकहाकिइससमयकोश्राद्धशुरूरहेहैं।श्राद्धोंमेंलोगपौशाकेंलेनेकमआतेहैं।महालक्ष्मीकेव्रतवालेदिनभक्तजनोंकीभीड़पौशाकेंलेनेपहुंची।मंगलवारकोकरीब200बच्चोंकीबसाकेगईहैंअबतककरी900सेअधिकलोगऔरबननेकीलिस्टउनकेपासआगईहै।कमलकोहली

By Duncan