नईदिल्ली,17फरवरी।किसीभीबड़ेपदपरमहिलाओंकापहुंचनाउससमाजमेंमहिलाओंकोमिलरहेसमानअवसरकोदर्शाताहै।ऐसेमेंजबकोईमहिलाउसबड़ेपदपरपहुंचतीहैतोउसेपुरुषोंकेबराबरहीसम्मानकाअधिकारहै।लेकिनजबपुरुषप्रधानसमाजइसबातकोस्वीकारनहींकरताहैऔरयहभूलजाताहैकिमहिलाएंभीइसपदकेलिएसमानरूपसेअधिकृतहैं।कुछइसीतरहकीघटनादिल्लीहाईकोर्टमेंसामनेआईहै,जहांपरमहिलाजजनेवकीलकोयाददिलायाकियहकुर्सीसिर्फपुरुषोंकेलिएनहींहै।

इसेभीपढ़ें-BJPनेतानेमंचसेकार्यकर्ताओंकोउकसाया,बोले-'दंगा-फसादकरोयालात-जूतालेकिनचुनावजीतो'