आंखेंदानकरकिसीकी¨जदगीसंवारे:विनय

जेएनएन,फतेहगढ़साहिब:

देशमेंबहुतसंख्यामेंऐसेलोगहैंजोअंधेपनकेशिकारहैं।उनकी¨जदगीमेंअंधेरछायाहुआहै।ऐसेलोगोंकी¨जदगीरौशनकरनेकेलिएविश्वजागृतिमिशनसार्थकप्रयासकररहाहै।जिसकेप्रोजेक्टचेयरमैनविनयगुप्तानेबतायाकिसर¨हदकीलक्ष्मीकालोनीनिवासीस्व:सुष्मासूदनेमरणोपरांतअपनीआंखेंदानकीहैं।

इनआंखोंकोपीजीआईचंडीगढ़अस्पतालकेडाक्टरोंकीटीमलेनेकेलिएपहुंची।उन्होंनेकहाकिहरव्यक्तिकोमरनेसेपहलाअपनीआंखेंदानकरनीचाहिएं।क्योंकिजोलोगदेखनहींसकतेउनकोअपनी¨जदगीकेअंधेरेकोदूरकरसकतेहैं।विनयगुप्तानेकहाकिप्रधानअशोकसूदबांकेबिहारीसेवासमितिकेसमूहमंचकेप्रयत्नोंसेहीपरिवारकोप्रेरितकियागया।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!

By Douglas