[सुशीलकुमारसिंह]।अमेरिकाकेह्यूस्टनशहरमेंबीते22सितंबरजबदिनकेकरीब11बजरहेथेतोभारतमेंरातहोरहीथी।पूरीदुनियाकीनजरएकऐसेकार्यक्रमपरथीजहांसेएकसर्वाधिकबड़ेतोदूसरेसबसेपुरानेलोकतंत्रकेमुखियाकाएकसाथऔरएकमंचपरसंयुक्तगूंजहोनीथी।बादमेंअमेरिकीराष्ट्रपतिडोनाल्डट्रंपएकश्रोताऔरभारतीयप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीएकवक्ताकीभूमिकामेंबनेरहे।

मोदीनेजिसतरहएनआरजीस्टेडियममेंउपस्थित 50हजारसेअधिकप्रवासीभारतीयोंकेबीचट्रंपकापरिचयदियाउससेयहीलगामानोमोदीनहीं,ट्रंपअमेरिकामेंअतिथिहैंऔरवेकिसीचुनावप्रचारमेंसंबोधनदेनेआएहों।रोचकयहभीथाकिमोदीनेकहाकिवर्ष2017मेंट्रंपनेअपनेपरिवारसेमिलायाथा,आजमैंअपनेपरिवारसेआपकोमिलाताहूं।वाकईप्रवासीभारतीयोंपरमोदीकेइसकथनकाबहुतगहराअसरहुआहोगा।

ह्यूस्टनमेंभारीतादादमेंभारतीयमूलकेलोग

गौरतलबहैकिह्यूस्टनमेंभारीतादादमेंभारतीयमूलकेलोगरहतेहैं।इसकेअलावाडलासभीटैक्सासकीप्रमुखजगहहैजहांप्रवासीभारतीयबहुतायतमेंहैं।टॉप10शहरोंमेंशामिलयेशहरअमेरिकामेंसबसेज्यादाभारतीयमूलकेलोगोंकेलिएजानेजातेहैं।मोदीकेसंबोधनकेलिएटैक्सासकोचुनेजानेकेलिएयहएकबड़ीवजहहै।शुरुआतमेंअंग्रेजीऔरबादमेंधाराप्रवाहहिंदीमेंमोदीकासंबोधनचलतारहाऔरट्रंपइसकालुत्फलेतेरहे।

मोदीकाअमेरिकामेंजिसढंगकाप्रभावदिखाउससेसाफहैकिभारतऔरअमेरिकाकेबीचद्विपक्षीयसंबंधअन्यदेशोंसेकाफीअलगहैं।हालांकिपूर्वराष्ट्रपतिबराकओबामाकेसमयभीमोदीकेसंवादऔरसंबंधकहींअधिकगहरेथे।अबकीबार,ट्रंपसरकारकानाराहाउडीमोदीकार्यक्रमकेदौरानह्यूस्टनमेंजबगूंजातबयहबातभीस्पष्टहोगईकिएकबारफिरव्हाइटहाउसकारास्ताट्रंपमोदीकेसहारेसमतलकरनेकीफिराकमेंहैं।गौरतलबहैकि2016केनवंबरमाहमेंजबअमेरिकीराष्ट्रपतिकेतौरपरडोनाल्डट्रंपचुनेगएथेतबभारतीयमूलकेअधिकांशलोगोंनेडेमोक्रेटिकपार्टीसेचुनावलड़रहींहिलेरीक्लिंटनकोवोटदियाथा।देखाजाएतोट्रंपरिपब्लिकनपार्टीसेआतेहैंऔरभारतीयमूलकेलोगोंपरइसपार्टीकीछापउतनीसकारात्मकनहींरहीहै।

ट्रंपकीसियासीजमीनहुईमजबूत

अमेरिकामेंअगलेसालनवंबरमेंफिरचुनावहोनेहैंऔरट्रंपएकबारफिरव्हाइटहाउसकासपनासंजोएहुएहैं।नेशनलएशियनअमेरिकनसर्वेसेइसबातकाखुलासाहोचुकाहैकिभारतीयमूलकेअमेरिकीनागरिकोंने2016केचुनावमेंट्रंपकेखिलाफमतदानकियाथा।ऐसेमेंट्रंपअपनीसियासीजमीनकीमजबूतीकेलिएइन्हेंअपनीओरआकर्षितकरनेकीकोशिशमेंलगेहैं।इसकेलिएमोदीकेसंबोधनसेबेहतरशायदहीकोईबातहोसकतीथी।ह्यूस्टनमेंट्रंपकेसाथखड़ेमोदीऔरमोदीकेसाथखड़ेट्रंपकेकईअर्थहैंजिसमेंसेएकअर्थडोनाल्डट्रंपकेलिएव्हाइटहाउसकामार्गप्रशस्तकरनाभीहै।संभवहैकिभारतीयमूल केलोगआगामीराष्ट्रपतिचुनावमेंट्रंपकेलिएट्रंपकार्डसिद्धहोसकतेहैंऔरयहबातट्रंपसेबेहतरशायदहीकोईजानताहो।

डोनाल्डट्रंप20जनवरी2017सेअमेरिकाकेराष्ट्रपतिहैं।अमेरिकाकीचुनावप्रक्रियाकईचरणोंसेगुजरतीहैजिसमेंपहलेचरणमेंप्राइमरीचुनावहोतेहैं,फिरकॉकस,बादमेंनेशनलकन्वेंशनआदिसेगुजरताहुआयहइलेक्टोरलकॉलेजतकपहुंचताहै।अमेरिकामें50राज्यहैंऔरइनराज्योंकेमतदाताइलेक्टर काचुनावकरतेहैं।येइलेक्टरराष्ट्रपतिपदकेकिसीनकिसीउम्मीदवारकेसमर्थकहोतेहैं।इन्हींसेएकइलेक्टोरलकॉलेजबनताहैजिसमेंकुल538सदस्यहोतेहैं।जबइनकाचुनावहोजाताहैतोआमजनताकीचुनावमेंभागीदारीखत्महोजातीहैऔरइनकेजरियेराष्ट्रपतिचुनाजाताहैजिसकेलिए270इलेक्टोरलमतजरूरीहोतेहैं।वर्ष2016केचुनावमेंडोनाल्डट्रंपऔरहिलेरीक्लिंटनकेबीचकांटेकीटक्कररही,मगरजीतट्रंपकेहाथआई।व्यक्तित्वकेमामलेमेंविवादितट्रंप2020मेंएकबारफिरव्हाइटहाउसकारास्तातयकरनेकेलिएभारतीयमूलकेलोगोंपरदृष्टिगड़ाएहुएहैं।

हाउडीमोदीकार्यक्रमइसदिशामेंकहींअधिकफायदेकासौदाहोसकताहै।वैसेप्रधानमंत्रीमोदीकाअमेरिकामेंकोईयहपहलासंबोधननहींथाऔरनहीदुनियामें।मई2014मेंप्रधानमंत्रीबननेकेबादमोदीनेपहलीबारप्रवासीभारतीयोंकोन्यूयॉर्ककेमेडिसनस्क्वायरमेंसंबोधितकियाथा।उसकेबादयह क्रमजारीरहा।सिडनी,टोरंटो,दुबई,लंदन,सिलिकॉनवैलीऔरजोहेनिसबर्गऔरपेरिससमेतबहरीनतककेसंबोधनोंकीगणनाकीजाएतोयहसंख्या15होतीहै,परएनआरजीस्टेडियममेंसंबोधनकेकुछअलगमायनेहैं।

मोदीकाभाषणसुनकरएकबारतोऐसाभीलगाजैसेवहकिसीचुनावीरैलीकोसंबोधितकरनेआएहोंऔरडोनाल्डट्रंपकीस्थितिभीकिसीउम्मीदवारकीतरहलगी।मोदीकायहबयानकिअबकीबारट्रंपसरकारदोनोंदेशोंकेलिएविवादकामुद्दाहोसकताहै।विरोधीभारतकेप्रधानमंत्रीकेबयानकोइसआधार परमुद्दाबनारहेहैंकियहदोनोंदेशोंकीसंप्रभुताऔरलोकतंत्रमेंदखलंदाजीहै।किसीदेशमेंकौनराष्ट्रपतिहोगायहतयकरनेकाअधिकारशायदमोदीकोनहींहै,मगरभारतकेजिसरसूखकोअमेरिकास्वीकारकरताहैऔरजिसतरहभारतीयमूलकेलोगचुनावीतस्वीरबदलसकतेहैंउसेदेखतेहुएयहसबहुआहै।हालांकिअमेरिकामेंबसेभारतीयमूलकेलोगोंपरहाउडीमोदीकाक्याअसरहुआहैयहतोचुनावकेबादपताचलेगा।

वर्ष2016मेंअमेरिकाकेराष्ट्रपतिकाचुनावविवादोंसेअछूतानहींथा।इसचुनावमेंरूसकेदखलपरआरोपलगचुकाहै।हालांकिव्हाइटहाउसइसेसिरेसेनकारचुकाहै।सोवियतसंघकेविभाजनकेबादअमेरिकाकाझुकावभारतकीओरहुआ,परसंबंधोंमेंगर्माहटबिलक्लिंटनकेसमयआई।सीनियरऔरजूनियरजॉर्जडब्ल्यूबुशकेशासनकालमेंसंबंधबुरेनहींथे,परबहुतअच्छेभीनहींथेजिनकासंबंधरिपब्लिकनपार्टीसेथा।ट्रंपभीउसीपार्टीसेहैंऔरभारतसेसंबंधअच्छेहैं।हमेंनहींभूलनाचाहिएकिहमारेसंबंधअमेरिकाकेडेमोक्रेटिकपार्टीकेराष्ट्रपतिरहेबराकओबामासेभीबहुतअच्छेथे।

[निदेशक,वाईएसरिसर्चफाउंडेशनऑफ पब्लिकएडमिनिस्ट्रेशन]

By Duncan