जागरणसंवाददाता,पीडीडीयूनगर(चंदौली):नगरमेंमकरसंक्रांति'खिचड़ी'पर्वकीतैयारीजोरोंपरचलरहीहै।पर्वकोलेकरबाजारसेलेकरलोगोंकेघरोंमेंभीतैयारीहोरहीहै।खिचड़ीपर्वकेमद्देनजरजहांअधिकांशघरोंमेंतिलवा,तिलकुटबनानेकाक्रमतेजहोगयाहै,वहींबाजारमेंगुड़,तिलवा,लाईआदिकीदुकानेंसजगईहैं।खरीदारीकेलिएभीलोगोंकीअच्छीभीड़लगरहीहै।इसकेअलावारंग-बिरंगेपतंगोंकीबिक्रीभीखूबहोरहीहै।बाजारमेंतिलसेबनेएकसेएकउत्पादबिकरहेहैं।

मकरसंक्रांतिपरलोगसुबहगंगास्नानकरनेकेसाथसूर्यकीपूजाकरतेहैं।पूजा-पाठकेबादलोगदिनमेंदहीवचूड़ातोशामकोखिचड़ीखातेहैं।ऐसेमेंपर्वकोलेकरघर-घरमेंउल्लासवउत्साहकामाहौलहै।हिदूधर्ममेंमकरसंक्रांतिकाविशेषमहत्वहै।सूर्यदेवजबमकरराशिमेंप्रवेशकरतेहैंतोवहघटनासूर्यकीमकरसंक्रांतिकहलातीहै।सूर्यदेवकेमकरराशिमेंआनेकेसाथहीमांगलिककार्यजैसेविवाह,मुंडन,सगाई,गृहप्रवेशआदिहोनेलगतेहैं।

मकरसंक्रांतिकोभगवानसूर्यदक्षिणायनसेउत्तरायणहोतेहैं।मकरसंक्रांतिकेआगमनकेसाथहीएकमाहकाखरमासखत्महोजाताहै।पर्वकोलेकरबच्चोंमेंअधिकउत्साहरहताहै।इसदिनपूरेदिनबच्चेपतंगबाजीकरतेहैं।नगरमेंदुकानोंसेपतंगकीबिक्रीतेजहोगईहै।मकरसंक्रांतिकेदिनस्नान,दानऔरसूर्यदेवकीआराधनाकाविशेषमहत्वहोताहै।आजकेदिनसूर्यदेवकोलालवस्त्र,गेहूं,गुड़,मसूरदाल,तांबा,स्वर्ण,सुपारी,लालफूल,नारियल,दक्षिणाआदिअर्पितकियाजाताहै।मकरसंक्रांतिकेपुण्यकालमेंदानकरनेसेअक्षयफलएवंपुण्यकीप्राप्तिहोतीहै।

By Duncan