मुजफ्फरनगर,जेएनएन।भगवानबुद्धनेकहाहैकिजिसनेअपनेमनकोवशमेंकरलियाहै,उसकीजीतकोदेवताभीहारमेंनहींबदलसकतेहैं।अर्थातमनकोवशमेंकरनेकानामहीआत्मसंयमहै,जिसकाअर्थहैअपनेआपकोवशमेंकरनाअर्थातमन-वचनऔरकर्मपरअधिकारप्राप्तकरना।ताकिशरीरसेकोईअशुभकार्यनहोनेपाए,जिससेकोईअपशब्दननिकलेऔरमनमेंकभीअशुभविचारनउठनेपाए।यदिमनुष्यअपनीइंद्रियोंकाप्रयोगउचितढंगसेकरताहैतोहीवहमनुष्यकहलानेकाअधिकाररखताहै।यदिउसकाअपनेमनपरअधिकारनहींहै,उचितऔरअनुचितकाज्ञाननहींहैतोवहमनुष्यकेपदसेगिरकरअन्ययोनियोंमेंगिनेजानेयोग्यहोसकताहै।एककथनहैकिहमजैसासोचतेहैं,वैसाहीबनजातेहैं।वास्तवमेंयहविचारनहींअपितुविचारोंकासंसारहै।हमारीसोचऔरविचारोंकाप्रभावहमारेमनपरगहराअसरछोड़ताहै।मनुष्यकेमनमेंविचारहीबार-बारउभरकरआतेहैं,जोमनुष्यकोदिशादेनेकाकामकरतेहैं।विचारहीमस्तिष्ककोगतिप्रदानकरतेहैंऔरगलतविचारक्रोधकीओरजानेकोविवशकरतेहैं।यहहमारीभूलहैकिहमसोचतेहैंकिवचनोंकीकोईशक्तिनहींहै।संसारमेंजोभीहुआ,जोभीहोरहाहैऔरजोभीहोगा,सबहमारेकर्मकेप्रभावसेहुआहैऔरजोहोसकताहैऔरआगेजोहोगावहकर्मकीशक्तिसेहोताहै।वहविचारोंकीशक्तिहोतीहै।यदिहमारेअंदरआत्मसंयमनहींहैतोआत्मिकताकाधनहमारेहाथनहींआसकताहै।हमइंद्रियोंकेजालमेंफंसकरपहलेतोनिर्मलहोंगे,फिरअपमानितहोतेहुएपहलेअपनाअनिष्टकरेंगेऔरफिरकिसीऔरकाकरेंगे।यहसचहैकिजोलोगदूसरोंकेलिएसोचतेहैं,उनकामनविश्वासपूर्णविचारोंकास्त्रोतहै।इसलिएयदिबुराईसेबचनाहोतोअपनीदिशाकोभलाईकीऔरमोड़देनाचाहिए।वास्तवमेंयदिआपजीतनाहीचाहतेहैंतोसबसेपहलेआत्मसंयमकीआदतडाललें।क्योंकिसंयमकाअर्थहीहैअपनीबिखरीहुईशक्तियोंकोनिश्चितदिशादेना।मानलीजिएजिसकार्यकोनहींकरनाहैऔरजबउसेहीकरनेकेलिएमनआकर्षितकरताहैतोआपउसेप्रयासपूर्वकरोकनेकेलिएमनबनालें।उसेहीआत्मसंयमकहतेहैं।संयमकाअर्थहैजबआकृतिआकर्षणोंकीओरजानेकेलिएहमारामनसहजरूपसेरुकजाए।गांधीजीनेकहाथाकिअनुशासनऔरबलिदानकेबिनामुक्तिकीआशानहींकीजासकतीहै,लेकिनयहबातभीसचहैकिलोगअक्सरगुस्सेमेंविवेकशून्यहोकरतुरंतअपनेआत्मसंयमकोगुस्सेमेंखोदेतेहैं।यहसचहैकिसमयबीतनेकेसाथलोगोंकेआत्मसंयममेंभारीकमीआईहै।इसकेगंभीरपरिणामसामनेभीआएहैं।इसलिएआत्मसंयमकीउपयोगिताकोकिसीभीहालमेंकमनहींआंकाजासकतहै।लेकिन,यहभीसचहैकिशुरुआतमेंआत्मसंयमकामार्गथोड़ाकठिनलगताहै।अर्थात्मनकोवशमेंकरनेकानामहीआत्मसंयमहै।मनुष्यकोमिलीहुईशक्तियोंकोनिश्चितदिशादेनासंयमकहलाताहै।

बुलंदीकीउड़ानपरहोतो,जरासब्ररखकरहवाओंमेंउड़ो।

परिदेबतातेहैंकिआसमानमेंठिकानेनहींहोते।

-डा.राजेशकुमारी,प्रधानाचार्या,वैदिकपुत्रीपाठशालाइंटरकालेज,नईमंडी

By Doyle