मधुबनी।जिलेकेकईप्राचीनतममंदिरोंमेंभगवानकीएकसेएकबहुमूल्यप्रतिमाएंहैं।पुरातात्विकहोनेकेसाथइनकीकीमतकरोड़ोंमेंहै।मगर,हालकेदिनोंमेंमूर्तियोंकीचोरीकीघटनाओंसेइनकीसुरक्षाखतरेमेंपड़गईहै।इनकीसुरक्षाकोलेकरकोईइंतजामनहींहैं।वहभीतबजबकिइनमूर्तियोंपरअंतरराष्ट्रीयतस्करोंकीनजरहै।स्थितियहहैकिइनमंदिरोंमेंसीसीटीवीकैमरातकनहींहै।

प्रतिमाओंकेसाथपुरातात्विकवस्तुभीखतरेमें

जिलेमेंदोदर्जनसेअधिकवैसेस्थलवमंदिरहैजहांप्राचीनप्रतिमावपुरावस्तुहैं।मधेपुरकेभीठभगवानपुरमहाराजनाव्यदेवकेपुत्रमल्लदेवकीराजधानीकहीजातीहै।यहांएकविशालमंदिरकाखंडहरविद्यमानहै।यहांखोदाईमेंभगवानविष्णुसमेतएकदर्जनदेवी-देवताओंकीप्रतिमाएंमिलीं।इसकेअलावायहांमंदिरकेखंभेकाविशालशिलाखंडभीहै।इसपरमानवकेगर्भधारणसेलेकरमृत्युतककाचित्रखचितहै।

वहींबेनीपट्टीकेअकौरगांवमेंदुर्लभभगवानविष्णुकीप्रतिमाहै।यहपांचफुटकाहै।इसकीसुरक्षाग्रामीणोंकेभरोसेहै।बिस्फीप्रखंडकेभोजपंडौलगांवमेंएकहीजगहसूर्य,दुर्गा,गणेशआदिकीप्रतिमाएंहैं।हालतकयहखुलेआसमानकेनीचेपूजितथा।ग्रामीणोंनेएकशेडनुमामंदिरबनाकरउसमेंरखदियाहै।लखनौरप्रखंडकेमैवीमेंब्रह्मा,कालीकीदुर्लभप्रतिमाहैं।इसेग्रामीणोंनेमंदिरबनाकरस्थापितकरदियाहै।लखनौरकेबलियामेंमहंतस्थानमेंदुर्लभशेषशायीविष्णुकीप्रतिमाहै।यहकाफीकीमतीहै।मगर,इसकीभीसुरक्षानहींहै।बेनीपट्टीकेसलेमपुरगांवमेंदोसालपूर्वपुरानेतालाबकीखोदाईमेंपांचबेशकीमतीकालेग्रेनाइटकीविष्णुकावराहअवतार,गणेशसहितपांचप्रतिमाएंमिली।।यहवहांकेएकमंदिरपरिसरमेंस्थापितहै।नाहरभगवतीपुरमेंदुर्लभविष्णुसहिततीनसूर्यप्रतिमाएकमंदिरमेंपूजितहै।इसकाभीरखरखावउचिततरीकेसेनहींहोरहाहै।हालांकि,किसीतरहग्रामीणइसकीसुरक्षाकररहेहैं।मगर,कभीभीमूर्तितस्करइसेनिशानाबनासकतेहैं।इसकेअलावाशहरकेबसुआरामहंतस्थलमेंकार्तिकेयकीप्राचीनप्रतिमाहै।शहरकेहीगढ़कालीमंदिरमेंसहस्त्रबाहुकालीसहितअन्यप्रतिमाएंहैं।यहभीभगवानभरोसेहै।अंधराठाढ़ीकेरखवारीगांवमेंएकपीपलपेड़केनीचेविष्णुवसूर्यप्रतिमाहै।इसकीकभीभीचोरीहोसकतीहै।वर्षोसेचोरीहोतीरहीहैंबहुमूल्यमूर्तियां

दसवर्षपूर्वझंझारपुरकेविदेश्वरस्थानसेभगवानबुद्धकीदुर्लभप्रतिमाचोरीहोगईथी।लाखोंकीइसप्रतिमाकाअबतककोईपतानहींचलसका।वहींगतवर्षबाबूबरहीकेकुल्हड़ियामंदिरसेउमा-महेश्वरकीप्रतिमाचोरीहोगई।इसेचोरऑटोपरलेजारहाथा।इसीबीचअंधराठाढ़ीकेसमीपपुलिसकीगाड़ीआतेदेखप्रतिमाचोरभागगए।पुलिसनेतलाशीमेंप्रतिमाबरामदकी।इसेग्रामीणोंनेपुन:मंदिरमेंस्थापितकिया।वहींशहरकेमुरलीमनोहरमंदिरमेंदोवर्षबादचोरीहुई।इसमेंअष्टधातुकीप्राचीनप्रतिमाएंथी।यहअबतकबरामदनहींकीजासकीहै।चारदिनपूर्वबाबूबरहीकेबरूआरकेएकमंदिरसेभगवानगणेशकीदुर्लभप्रतिमाकीचोरीहोगईहै।इसकाकोईअता-पतानहींहै।

जिलेकेप्राचीनवमहत्वकेमंदिरोंमेंस्थापितप्राचीनप्रतिमाओंकीसुरक्षाकेलिएचौकीदारोंकीतैनातीकीजाएगी।पुलिसप्रशासनइनस्थलोंकाचिन्हितकरशीघ्रसुरक्षाकीव्यवस्थाकरेगी।

डॉ.सत्यप्रकाश,एसपी,मधुबनी

By Dunn