जागरणसंवाददाता,रामपुर(जौनपुर):केंद्रसरकारकीतरफसेगांवकेलोगोंकीजीविका,सुरक्षा,गरीबीउन्मूलनवआयबढ़ानेकेउद्देश्यसेमनरेगाजैसीकल्याणकारीयोजनाकासंचालनकियाजारहाहै।वहींरामनगरवरामपुरब्लाकोंमेंमनरेगाकेमानकोंकीधज्जियांउड़ाईजारहीहैं।दोनोंहीब्लाकमेंहजारोंमजदूरोंकेसमक्षरोजगारकासंकटखड़ाहोगयाहै।रोजगारदेनेकेनामपरभीखेलहोरहाहै।

मनरेगायोजनाकोगरीबोंकीसंजीवनीकहाजाताहै।इसकाउद्देश्यहरमजदूरकोरोजगारदेनाहै।इनदोनोंहीब्लाकोंकेअधिकतरगांवोंमेंमजदूरोंसेकामनकराकरठेकेदारीप्रथासेकामकरायाजारहाहै।गांवकेमजदूरपलायनकोमजबूरहैं,जबकिरामनगरमें22हजारवरामपुरमें18हजारसक्रियमजदूरहैं।यदिईमानदारीसेभौतिकसत्यापनकरायाजाएतोबड़ीगड़बड़ीसामनेआएगी।दोनोंविकासखंडोंकेअधिकतरप्रधानोंनेनामनछापनेकीशर्तपरबतायाकियोजनाओंकीस्वीकृतिकेनामपरखेलहोरहाहै।यदिअधिकारियोंकीमांगनपूरीकीजाएतोजांचकेनामपरतरह-तरहकेउत्पीड़नकिएजातेहैं।बहरहालठेकेदारीतरीकेसेमनरेगाकाकामहोनास्वत:सिद्धकररहाहैकिसंबंधितविभागकिसतरहसेअपनेनैतिकदायित्वकानिर्वहनकररहाहै।बोलेजिम्मेदार..

इसबाबतडीसीमनरेगाभूपेंद्रकुमारसिंहकाकहनाहैकियदिइसप्रकारकीकोईशिकायतआतीहैतोजांचकरकार्रवाईकराईजाएगी।

By Edwards