शामली,जागरणटीम।आधुनिकयुगमेंहमारीजीवनशैलीमेंबड़ापरिवर्तनहोरहाहै।सभीघरोंमेंस्मार्टफोनहैं।कोरोनाकालमेंआनलाइनकक्षाचलनेकेकारणस्मार्टफोनभीसभीकेघरोंमेंहोगयाहै।बच्चेपढ़ाईकेसाथहीइंटरनेटमीडियाऔरइंटरनेटकाबहुतज्यादाइस्तेमालकररहेहैं।उन्हेंइनकीलतसीलगगईहै।आजकलयुवाऔरबच्चेटीवीपरकमऔरमोबाइलऔरइंटरनेटपरसबसेअधिकसमयबितारहेहैं।दिनहोयारातयुवा24घंटेमेंसेकरीबदसघंटेतोफोनपरहीगुजारतेहैं।

विकासऔरप्रौद्योगिकीकेइसबदलतेयुगमेंमोबाइलमानवजीवनकाएकअहमहिस्साबनगयाहै।एकपलकेलिएभीकोईइसेखुदसेदूरनहींकरनाचाहताहै।इसीकानतीजाहैकिमाता-पिताकीदेखा-देखीआजछोटेबच्चेभीइसकेआदीहोगएहैं।माता-पितावपरिवारकेअन्यसदस्यलाड़-प्यारकेकारणअपनेबच्चोंकीजिदगीमेंइंटरनेटमीडियाकोदाखिलकररहेहै।इसकेकारणशारीरिकऔरमानसिकसमस्याओंकेसाथ-साथबच्चेसंस्कारोंसेदूरहोरहेहैं।इंस्टाग्राम,फेसबुक,यूट्यूबआदिअन्यएपजहांदुनियाभरमेंजागृतिफैलारहेहै,वहींकुछलोगअपनेआपकोपापुलरकरनेकेलिएगलतसामग्रीभीपोस्टकररहेहैं,जिन्हेंबच्चेगौरसेदेखतेहैं।अभिभावकोंकोअपनीपीढ़ीकोसंवारनेकेलिएसजगहोनाचाहिए।बचाव

आंखोंकोस्वस्थरखनेकेलिएहरीसब्जियां,पीलेफलवलिक्विडकासेवनअधिकसेअधिककरें।अभिभावकोंकोबच्चोंकोसमयपरहेल्दीभोजनकरनाचाहिए।वहींसमयसमयपरउनकीकाउंसलिगकरनीचाहिए।इन्होंनेकहा

डा.सपनगर्गकाकहनाहैकिमोबाइलकेअधिकइस्तेमालसेआंखोंमेंसूखापनकेसाथ-साथमांस-पेशियांकमजोरहोजातीहै,जोसिकुड़नेलगतीहै।इससेसिरदर्दवआंखोंमेंथकानहोनेलगतीहै।उनकीसलाहहैकि20मिनटसेज्यादाइस्तेमालनाकरें,फिरआंखोंकोबंदकरकेरिलेक्सकरें।उसकेबादहीदोबाराइस्तेमालकरें।

डा.इरशादमलिककाकहनाहैकिमोबाइलकेइस्तेमालसेबच्चोंमेंचिड़चिड़ापनहोताहै।उन्हेंसमयसेनींदनहींआतीहै।इससेउनकेशारीरिकविकासमेंरुकावटपैदाहोजातीहै।प्रधानाचार्यराजकुमारसेनकाकहनाहैकिअपरिपक्वउम्रमेंबच्चोंकोमोबाइलदेनासहीनहींहै।माता-पिताउन्हेंमोबाइलकाकमसेकमप्रयोगकरनेदें।वहींस्वयंकेसंरक्षणमेंहीबच्चोंकोफोनकाइस्तेमालकरानाचाहिए।यहसभीअभिभावकोंकोनियमबनानाचाहिए।इसमेंलापरवाहीहोनेपरयहउनकेभविष्यकेलिएनुकसानदायकहोनेकेसाथ-साथमस्तिष्ककेसंतुलनकोबिगाड़देताहै।प्रधानाचार्याअलकातिवारीकाकहनाहैकिबच्चेमोबाइलकेअधिकप्रयोगसेशारीरिकरूपसेकमजोरहोजातेहैं।संस्कारोंसेअनभिज्ञहोतेजारहेहैं।नैतिकपतनहोताजारहाहै।बच्चोंमेंजिज्ञासाअधिकहोतीहै,जिसकारणवहउसेगंभीरतासेलेतेहैंऔरउल्टी-सीधीजानकारियांहासिलकरतेहैं।मोबाइलसेनिकलेवालारेडिएशनउनकेशरीरपरदुष्प्रभावडालताहै।

By Farrell