बिजनौर,जेएनएन।कोरोनाकेखिलाफजंगखतरनाकहीनहींलंबीभीहोनेवालीहै।इसजंगकोतभीजीताजासकताहै,जबसमाजकेसंपन्न,प्रबुद्धलोगआगेबढ़करसरकारकीकोशिशोंकोमजबूतकरेंऔरसमाजकेजरूरतमंदोंकासुरक्षाकवचबनें।

साहनपुरकेपूर्वचेयरमैनखुर्शीदमंसूरीआजकलआक्सीजनमैनकीभूमिकामेंनजरआरहेहैं।पिछलेलगभगएकपखवाड़ेसेखुर्शीदमंसूरीऔरउनकीटीमकेसाथीइकबालअहमद,मुस्तकीम,रफीकउर्फकाला,फुरकानएवंइमरानदिन-रातदौड़रहेहैं।दरअसल,येसभीआक्सीजनकेअभावमेंसांसोंकेसंकटसेजूझरहेमरीजोंतकआक्सीजनसिलेंडरपहुंचानेमेंजुटेहैं।खुर्शीदमंसूरीबतातेहैंकिऔसतनआठसेदससिलेंडररोजानादिएजारहेहैं।येसिलेंडरहोमआइसोलेटऔरप्राइवेटअस्पतालोंमेंभर्तीमरीजोंकोदिएजारहेहैं।इसकेलिएमरीजकेतीमारदारोंसेमरीजकाउपचारकररहेचिकित्सककापर्चाऔरआधारकार्डनंबरलियाजारहाहै।अबतकनजीबाबाद,साहनपुर,नांगलसोती,हुसैनपुर,जीवनसराय,भनेड़ाकेलोगोंकोसिलेंडरदिएगएहैं।खुर्शीदमंसूरीनेमरीजोंऔरउनकेतीमारदारोंसेधैर्यऔरसाहसरखनेकीअपीलकीहै।वहीं,बसपानेताइंजीनियरमुअज्जमखाननेभीअलविदाजुमेपरसमीपुरअस्पतालकोरोजाना10आक्सीजनसिलेंडरप्रदानकरनेकासंकल्पलियाहै।

अस्पतालमेंजाकरमरीजोंकाहालजाना

ह्यूमनराइट्ससंगठनकेजिलाध्यक्षदेवानंदभुईयारनेजिलाअस्पतालपहुंचकरमरीजोंकाहाल-चालजाना।उन्होंनेअस्पतालकेस्टाफसेभीमरीजोंकाकोरोनाकालमेंविशेषध्यानदेनेकाअनुरोधदिया।इसमौकेपरमोहम्मदकैफ,हरिओम,सोनूआदिमौजूदरहे।

By Elliott