(आसिमकमाल)नयीदिल्ली,22मई(भाषा)रमज़ानकेमहीनेमेंमस्जिदेंकाफीरोज़ेदारोंकोइफ्तारऔरखानामुहैयाकरातीथी,लेकिनलॉकडाउनकेकारणइसबारयेबंदहैं,जिसवजहसेमस्जिदोंमेंरोजाखोलनेवालेलोगोंकोकाफीमुश्किलोंकासामनाकरनापड़ाहै।अधिकतरकेपासतोकुछभीखानेकोनहींहैं,क्योंकिलॉकडाउनकेकारणउनकीनौकरीचलीगईहै।बड़ीसंख्यामेंरिक्शाचलानेवाले,निर्माणमजदूरऔरदिहाड़ीमजदूरतथाउनकेपरिवाररमजानमेंसेहरी(सूरजनिकलेसेपहलेकियाजानेवालाभोजन)औरइफ्तार(सूरजडूबनेकेबादकियाजानेवालाभोजन)कोलेकरइलाकेकीमस्जिदोंपरनिर्भररहतेथे।लेकिनलॉकडाउनकेकारणमस्जिदेंबंदहैंऔरउन्हेंसेहरीतथाइफ्तारकाइंतजामखुदकरनापड़ारहाहै।जबकिकोरोनावायरसकेकारण25मार्चकोलागूकिएगएलॉकडाउनकीवजहसेउनकाकामऔरनौकरीछूटगईहै।ऐसेमेंउनकेसामनेसंकटखड़ाहोगयाहै।दक्षिणदिल्लीमेंघरोंमेंकामकरनेवालीशबानाकहतीहैंकिरमज़ानकामहीनाउनकेलिएबेहतरहै,क्योंकिरोजेरखनेकीवजहसेउनकेबच्चेतीनबारखानानहींमांगतेहैं।28वर्षीयघरेलूसहायिकानेकहाकिउनकेपतिझारखंडमेंफंसेहुएहैंऔरवहओखलाकेजोहरीफॉर्मइलाकेमेंअपनेबेरोजगारभाईऔरदोबच्चोंकेसाथरहतीहैं।उन्होंनेपीटीआई-भाषासेकहा,"मैंतीनघरोंकामकरतीथीलेकिनलॉकडाउनकेकारणमालिकनेकामपरआनेसेमनाकरदिया।उनमेंसेसिर्फएकनेमुझेपिछलेदोमहीनेमेंबिनाकामकराएपैसेदिएहैं।"शबानानेकहा,"रमजानमेंमुझेकमसेकमदोवक्तकेखानेकाइंतजामकरनापड़रहाहै।सेहरीमेंहमसिर्फचायपीतेहैंऔरइफ्तारमेंघरमेंथोड़ाबहुतजोभीहोताहै,उससेकामचलातेहैं।"उन्होंनेकहा,"जबमेरेबच्चेइफ्तारकेवक्तबाहरजातेहैं,औरदेखतेहैंलोगइफ्तारकेलिएलज़ीज़चीज़ेखरीदरहेहैंजोहमवहनकरसकतेहैं।वहउदासवापसआतेहैंऔरमैंउनकेचेहरेनहींदेखपातीहूं।"यहतकलीफसिर्फशबानाकीहीनहींहै,बल्किकईऔरकीभीहै।नूरनगरमेंघरेलूसहायिका40वर्षीयसिताराकाअबकामछूटगयाहै।उनकाकहनाहैकिउनकेचारबच्चेरमजानमेंरोजारखतेहैं।बच्चेऔरवहखुदसेहरीमेंसिर्फपानीपीकरगुजराकरतीहैं।उन्होंनेपीटीआई-भाषासेकहा,"पहले,रमज़ानमेंमेरेबच्चेशामकी(मगरीब)कीनमाज़केलिएजातेथेऔरमस्जिदमेंहीइफ्तारकरलियाकरतेथे।मगरअबमस्जिदेंबंदहैं।अबइफ्तारकेलिएदालरोटीयाआलूहोताहै।"सितारानेकहाकिउनकेकुछपुरानेनियोक्ताओंनेउन्हेंकामपरवापसआनेकेलिएकहालेकिनपैरमेंचोटलगीहैजिसवजहसेवहजानहींसकतीहै।यहचोटइलाकेमेंपूरीआलूकेवितरणकेवक्तभोजनलेनेकेदौरानलगीहै।मस्जिदोंकेबंदहोनेसेनकेवलआसपासकेलोगोंकेयोगदानसेहोनेवालासामुदायिकइफ्तारप्रभावितहुआ,बल्किधर्मार्थसंगठनोंकेलिएगरीबोंतकपहुंचनाभीमुश्किलहुआहै।प्रतिष्ठितमुस्लिमसंगठनजमीयतउलेमा-ए-हिंदकेप्रमुखमौलानाअरशदमदनीनेकहाकिउनकेसंगठननेदेशमेंमदरसोंकेनेटवर्ककोसक्रियकियाऔरलोगोंकेघरखानापहुंचारहेहैंतथाउनकीआर्थिकमददकररहेहैं।उन्होंनेपीटीआई-भाषासेकहा,"दिहाड़ीमजदूरऔरगरीबसमेतसभीतबकोंकेलोगमस्जिदोंमेंइफ्तारकरतेथेलेकिनवेइसरमजानमेंबंदहैंऔरलोगोंकीपहचानकरनाऔरउनकोमददपहुंचानाबड़ीचुनौतीहै।"मदनीनेकहा,"हमनेकाफीलोगोंकोआर्थिकसहायतापहुंचाईऔरइफ्तारतथासेहरीकेलिएखानाभीदियाहै,लेकिनजाहिरहै,काफीलोगोंतकनहींपहुंचपाएहोंगे।कईलोगोंनेलॉकडाउनकेदौरानअपनारोजगारगंवायाहैऔरवेबेहदपरेशानियोंकासामनाकररहेहोंगे।"इसतरहकीकहानी13सालकेरेहानकीहै।वहरोज़ारखकरगली-गलीघूमकरठेलेपरसब्जीबेचताहैऔरउसेयहनहींपताहोताहैकिक्याशामकोइफ्तारीमिलेगीयाटमाटरहीखानेपड़ेंगेजोउसनेपूरेदिनबेचेहैं।वहएकहाथसेसब्जीकेठेलेकोखींचताहैऔरदूसरेहाथसेअपनेशारीरिकरूपसेअशक्तभाईआयानकाहाथपकड़ेरहताहै।वहओखलाविहारऔरनूरनगरकीगलियोंमेंटमाटरबेचतेहैं।उन्होंनेपीटीआई-भाषासेकहा,"मैंअपनेपरिवारकाअकेलाकमानेवालाहूं।मेरेपिताकानिधनहोगयाहैऔरमैंअपनीमां,दोबहनोंऔरभाईकेसाथरहताहूं।पहलेमेराभाईऔरमैंमस्जिदमेंइफ्तारकरतेथेलेकिनइसबारयहविकल्पभीनहींहैं।"उन्होंनेकहाकुछमर्तबाजिनघरोंमेंहमटमाटरबेचनेजातेहैं,वेहमेंइफ्तारकरादेतेहैं,हांलाकिज्यादातरतोहमेंयहीटमाटरखानेपड़तेहैं।

By Duffy