मुंबई,ओमप्रकाशतिवारी।करीब12सालपहलेभारीबरसातकासामनाकरचुकीमुंबईमंगलवारकोभीपानी-पानीहोहीगई।उससमयकासबकभीदेशकीआर्थिकराजधानीकेकाम नहींआसका।अभीतककीजानकारीकेमुताबिक,करीबएकदर्जनलोगोंकीजानजाचुकीहै।मौसमविभागनेभारीबारिशऔरतूफानकीचेतावनीदीथी।

फिरभीबुधवारकोमुंबईमेंबारिशनकेबराबरहुई।कमबारिशसेराहततोमिलीलेकिनमुश्किलेंअभीभीराहरोकेखड़ीहैं।राष्ट्रीयआपदाराहतमोचनबलकेकरीब450जवानलोगोंकोउबारनेमेंजुटेहैं।बेस्टनेआवागमनसामान्य बनानेकेलिएअतिरिक्तबसेंलगादीहैं।पश्चिमीलाइनपरउपनगरीयट्रेनसेवाबहालहोगईहै।लेकिनचालकदलकेअभावमेंविमानोंकीउड़ानेंसामान्यनहींहोपाईहैं।असामान्यस्थितिकोदेखतेहुएआस्ट्रेलियाकेव्यापार,पर्यटनएवंनिवेशमंत्रीस्टीवनसिओबोकामुंबईदौरारदकरदियागयाहै।वहगुरुवारकोमुंबईआनेवालेथे।

सड़कपरआवाजाहीसामान्यबनानेकेलिएबृहन्मुंबईमहापालिकाकचराऔरगादहटानेमेंजुटगयाहै।तालाबमेंबदलचुकीसड़कोंपरहीकईलोगअपनावाहनछोड़गएहैं।उन्हेंभीहटायाजारहाहै।वाहनोंऔरकचरेसेसड़केंथमीहुईहैं। 26जुलाई,2005कोमुंबईमें12घंटेमें944मिलीमीटरवर्षाहुईथी,जिसमेंसैकड़ोंलोगमारेगएथे।ऐसीघटनाकादोहरावरोकनेकेलिएकईयोजनाएंबनाईगईं।करीब36000करोड़रुपयेखर्चकिएगएहैं।इसकेबावजूदमंगलवार कोकरीब325मिलीमीटरबरसातमेंभीमुंबईऔरपड़ोसीजिलाठाणेसमुद्रकारूपलेतानजरआया।जलभरावसेपूरीमुंबईसीठहरगई। मैनहोलमेंबहगएडॉ.अमरापुरकरबांबेअस्पतालकेमशहूरचिकित्सकडॉ.दीपकअमरापुरकरकेएकमैनहोलमेंबहजानेकीआशंकाजताईजारहीहै।

वहदोपहरकरीबतीनबजेअपनेसाथियों केसाथभोजनकेबादअस्पतालसेघर रवानाहुएथे।उनकीकारड्राइवरचलारहाथा।लोअरपरेलपहुंचनेपरउन्हेंबड़ाजाममिलगया।चूंकिउनकाघरवहांसे10मिनटकीदूरीपरथा,इसलिएछातालेकरपैदलहीनिकलनेकानिश्चयकिया।कुछहीदूरगएहोंगेकिवहएक

मैनहोलमेंगिरगए।आसपासकेलोगोंनेउन्हेंमैनहोलमेंगिरतेदेखा।मददकेलिएलोगवहांपहुंचेलेकिनबहावतेजहोनेकेकारणउन्हेंबचानेमेंअसफलरहे।

यहभीपढ़ें: भारीबारिशसेमुंबईपानी-पानी,सड़केंबनींसमंदर

By Farmer