नईदिल्ली[स्पेशलडेस्क]। भारतऔरम्यांमारकेबीचसंबंधोंकोनईदिशादेनेकेलिएपीएममोदीम्यांमारमेंहै।बुधवारकोजबवोम्यांमारकीस्टेटकाउंसलरआंगसानसूकीसेमिलेतोदेशऔरदुनियाकीनिगाहेंइसबातपरटिकीहुईथींकिपीएममोदीरोहिंग्यामुसलमानोंकेमुद्देपरक्याकुछकहतेहैं।दोनोंदेशोंकीसाझाप्रेसकॉन्फ्रेंसमेंपीएमनेकहाकिम्यांमारकीआंतिरकहालातसेभारतचिंतितहै।इससंबंधमेंसभीपक्षोंकोशांतिपूर्वककोईरास्तानिकालनेकीकोशिशकरनीचाहिए।

इससेपहलेमंगलवारकोपीएममोदीनेम्यांंमारकेराष्ट्रपतिकोबोधिवृक्षऔरसालविननदीकानक्शादेकरभारतऔरम्यांमारकेऐतिहासिकरिश्तोंपररोशनीडाली।म्यांमारकोगेट-वेऑफसाउथ-ईस्टएशियाकहाजाताहै।साउथ-ईस्टएशियामेंचीनकेबढ़तेप्रभावकोभीनकारानहींजासकताहै।ऐसेमेंपीएममोदीकाम्यांमारदौरानकेवलद्विपक्षीयसंबंधोंकोमजबूतकरनेकेलिहाजसेअहममानाजारहाहै,बल्किचीनकेबढ़तेप्रभावकोकमकरनेकीकोशिशकेतौरपरभीदेखाजारहाहै।

साझाप्रेसकॉन्फ्रेंसमेंपीएममोदीनेक्याकहा

-मुझेयहघोषणाकरतेहुएखुशीहोरहीहैकिहमनेभारतआनेकेइच्छुकम्यांमारकेसभीनागरिकोंकोgratisvisa(मौजूदाद्विपक्षीयसंबंधोंकोऔरमजबूतबनानेकेलिएसभीतरहकेवीजाकोमुफ्तमेंजारीकियाजाताहै।म्यांमारदौरेपरपीएममोदीनेम्यांमारकेसभीनागरिकोंकोमुफ्तवीजादेनेकाऐलानकिया।म्यांमारकेअलावाअफगानिस्तान,बांग्लादेश,डेमोक्रेटिकरिपब्लिकऑफकोरिया,जमैका,मालदीव,मारीशस,मंगोलिया,दक्षिणअफ्रीकाऔरउरुग्वेकेनागरिकोंकोमुफ्तवीजादियाजाताहै।) देनेकानिर्णयलियाहै।

-हमारीडेवलपमेंटपार्टनरशिपकेतहतम्यांमारमेंउच्चकोटिकीस्वास्थ्य,शिक्षातथाअनुसंधानकीसुविधाओंकाविकासप्रसन्नताकाविषयहै।

-उत्तरीम्यांमारकीजरूरतोंकोपूराकरनेकेलिएभारतसेहाईस्पीडडीजलट्रकोंद्वाराआनाशुरूहोचुकाहै।

-सड़कोंऔरपुलोंकानिर्माण,उर्जाकेलिंकऔरकनेक्टिविटीबढ़ानेकेहमारेप्रयास,एकअच्छेभविष्यकीओरसंकेतकरतेहैं

-यहजरूरीहैकिहमअपनीलंबीज़मीनीऔरसमुद्रीसीमापरसुरक्षाऔरस्थिरताबनाएरखनेकेलिएमिलकरकामकरें।

-पड़ोसीहोनेकेनाते,सुरक्षाकेक्षेत्रमेंहमारेहितएकजैसेहीहैं।

-जेलमेंबंद40कैदियोंकोभारतछोड़ेगा।

-2014मेंआसियानसमिटकेअवसरपरमेरायहांआनाहुआथा,परन्तुस्वर्णिमभूमिम्यांमारकीयहमेरीपहलीद्विपक्षीययात्राहै।

-आंगसानसूकीनेकहाकिम्यांमारयेसुनिश्चितकरेगाकिउसकीजमीनकाइस्तेमालआतंकीगतिविधियोंकेलिएनहो।

Jagran.Comसेखासबातचीतमेंऑब्जर्वररिसर्चफाउंडेशनकेप्रोफेसरहर्षवीपंतनेकहाकिम्यांमारमेंरोहिंग्यामुसलमानोंकामामलापेचीदाहै।म्यांमारसरकाररोहिंग्यामुसलमानोंकोआतंकीमानकरउनकासफायाकररहीहै।पीएममोदीनेजबसाझाप्रेसकॉन्फ्रेंसमेंकहाकिविवादितमुद्दोंकोशांतिपूर्णतरीकेसेसुलझानेकीकोशिशहोनीचाहिए।पीएमकेइसबयानसेसाफहोगयाकिभारतसरकारएकतयसीमासेआगेजाकरदखलनहींदेगी।अगरभारतरोहिंग्यामुसलमानोंकेपक्षमेंखुलकरसामनेआतातोम्यांमारकीतरफसेयेसवालकियाजाताकिपूर्वोत्तरराज्योंमेंआंदोलनकरनेवालोंकोभारतसरकारआतंकीमानतीहै।लेकिनरोहिंग्यामुसलमानोंकेमुद्देपरभारतसरकारउनसेइत्तेफाकनहींरखतीहै।वीजाके

ग्रैटिसवीजाकेजरिएभारतसरकारनेम्यांमारीलोगोंकेदिलकोजीतनेकीकोशिशकीहै।इसकेअलावाअपरम्यांमारकेविकासकेलिएमदददेनेकाभरोसाऔरऐलानकरइसबातकीकोशिशहैकिचीनकाम्यांमारपरप्रभावकमहोसके।

आंगसानसूकीसेहिंसारोकनेकीअपील

रोहिंग्यामुस्लिमोंपरहोरहेहमलेकेदेखतेहुएइंडोनेशिया,बांग्लादेशऔरपाकिस्ताननेम्यांमारकीनेताआंगसानसूकीसेहिंसाकोरोकनेकीमांगकीहै।गौरतलबहैकिइसपूरेमामलेमेंचुप्पीकेकारणआंगसानकीविदेशोंमेंभीआलोचनाकीजारहीहै।दुनियाकेसबसेज्यादामुस्लिमआबादीवालेदेशइंडोनेशियानेभीम्यांमारकेहालातपरचिंताकाजाहिरकीहै।इंडोनेशियाकेविदेशमंत्रीनेनोबेलपुरस्कारविजेतासूकीऔरम्यांमारकेसेनाप्रमुखसेमुलाकातकररोहिंग्यामुसलमानोंपरहोरहेहमलोंकोरोककरउन्हेंजरूरीसुविधाएंउपलब्धकरानेकीमांगकीहै।बांग्लादेशकीप्रधानमंत्रीशेखहसीनाकेराजनीतिकसलाहकारनेकहाकिइसमामलेमेंभारतसमेतसभीआसियानदेशोंकोम्यांमारपरदबावबनानाहोगा।

म्यांमारमेंहोरहेहमलोंकेबादलगभगएकलाखपच्चीसहजाररोहिंग्यामुसलमानदेशछोड़करबांग्लादेशभागगएहैं।संयुक्तराष्ट्रमानवाधिकारसंगठनसमेतकुछअन्यसंगठनोंकादावाहैकिरोहिंग्यामुसलमानोंपरहिंसाकोसरकार,बौद्धभिक्षुओंऔरअतिराष्ट्रवादीसमूहोंकासमर्थनहै।म्यांमारसरकारनेइनरिपोर्टपरकोईप्रतिक्रियानदेतेहुएकहाकिसेनाराखिनमेंकेवलआतंकवादियोंसेलड़रहीहै।म्यांमारमेंअबतक21गांवोंनेअपनेकोमुसलमानोंकेलिएप्रतिबंधितघोषितकरदियाहै।

रोहिंग्याआर्मीनेम्यांमारमेंजलाएसैकड़ोंघर

अराकानरोहिंग्यासाल्वेशनआर्मीनेपिछलेदोदिनोंमेंउत्तरीम्यांमारमेंतीससेज्यादापुलिसचौकियोंपरहमलाकिया।इसकेसाथहीआक्रोशितभीड़नेक्षेत्रमेंसैकड़ोंघरोंकोआगकेहवालेकरदिया।म्यांमारसरकारनेरोहिंग्यासाल्वेशनआर्मीकोआतंकवादीसंगठनघोषितकररखाहै।ध्यानरहेम्यांमारमेंपुलिसऔररोहिंग्याविद्रोहियोंकीमुठभेड़मेंअबतक13सुरक्षाबलऔर14आमनागरिकमारेजाचुकेहैं।जवाबीकार्रवाईमें400सेज्यादाबागियोंकीमौतहुईहै।

रोहिंग्यामुसलमानोंकाइतिहास

म्यांमारमेंरोहिंग्यामुसलमानोंकेइतिहासकोलेकरविवादहै।रोहिंग्यामुसलमानमुख्यरूपसेम्यांमारकेअराकानप्रान्तमेंबसनेवालेअल्पसंख्यकमुस्लिमहैं।इसीइलाकेकोराखिनकेनामसेभीजानाजाताहै।यहांइनकीआबादीआठलाखकेआसपासहै।रोहिंग्यामुसलमानोंदावाकरतेहैंकिवेयहांसदियोंसेरहरहेहैंजबकिसरकारऔरदूसरेजातीयसमूहउन्हेंविदेशीप्रवासीमानतेहैं।संयुक्तराष्ट्रकेशरणार्थीउच्चायोगकेअनुसार1982केनागरिकताकानूननेरोहिंग्यामुसलमानोंकोम्यांमारकीनागरिकतासेवंचितरखाहै।यहकानूनअंतरराष्ट्रीयकानूनकेकईमौलिकसिद्धांतोंकाउल्लंघनकरताहै।रोहिंग्यामुसलमानोंकेलिएम्यांमारसरकारनेपहचानपत्रजारीकररखेहैं।इसपहचानपत्रकोउन्हेंहरसमयअपनेसाथरखनाहोताहै।यहपहचानपत्रनौकरीकेलिएआवेदनकरने,किसीदूसरेस्थानपरठहरने,बच्चोंकोस्कूलमेंदाखिलाकराने,टिकटखरीदने,जमीनखरीदनेऔरबेचनेजैसेसभीकामोंकेलिएजरूरीहै।

म्यांमारपरअत्याचारकाआरोप

म्यांमारमेंरोहिंग्यामुसलमानोंसेजबरदस्तीकामलियाजाताहै।आरोपयहभीहैकिउन्हेंसरकारकेलिएकार्यकरनाआवश्यकहैऔरकार्यकरनेकेबदलेमेंकुछमिलताभीनहींहै।इनलोगोंकोअन्यशहरोंमेंकामतलाशनेकीभीअनुमतिनहींहै।इनमेंसेअधिकांशलोगअकुशलश्रमिकहैं।1978मेंबड़ीसंख्यामेंरोहिंग्यामुसलमानबांग्लादेशचलेगएथे।इसकेबाददिसंबर1991सेमार्च1992तककीअवधिमेंतकरीबनदोलाखरोहिंग्यामुसलमानबांग्लादेशभागगएथे।रोहिंग्यामुसलमानोंकेजबतबथाईलैंडऔरमलेशियाभागनेकीखबरेंआतीरहतीहैं।

रोहिंग्यामुस्लिमोंकोलेकरबांग्लादेशऔरम्यांमारमेंतनातनी

संयुक्तराष्ट्रनेतीनहजारसेज्यादारोहिंग्याशरणार्थियोंकेबांग्लादेशमेंपहुंचनेकीपुष्टिकीहै।इंटरनेशनलऑर्गेनाइजेशनफॉरमाइग्रेशनसंस्थाकेमुताबिकअबतक18445रोहिंग्याशरणार्थीबांग्लादेशमेंअपनापंजीकरणकराचुकेहैं।म्यांमारमेंसेनाकीजवाबीकार्रवाईशुरूहोनेसेहालातबेहदखराबहोगएहैं।हजारोंकीतादातमेंबांग्लादेशपहुंचरहेरोहिंग्याशरणार्थियोंमेंज्यादातरमहिलाएंऔरबच्चेहैं।इनमेंकईगोलीसेघायलहैंतोकईबीमारहैं।म्यांमारकीसीमासेलगतेबांग्लादेशकेकॉक्सबाजारकेअस्पतालोंमेंइनशरणार्थियोंकाइलाजचलरहाहै।रोहिंग्याशरणार्थियोंकेआनेसेबांग्लादेशकीसमस्याएंबढ़नेलगीहैं।

म्यामांरकेरखाइनमें25अगस्तकीसुबहचौबीसपुलिसचौकियोंऔरसैन्यअड्डोंपररोहिंग्याविद्रोहियोंकेहमलेमेंएकदर्जनसुरक्षाकर्मियोंसहितलगभग89लागोंकीमौतहोगई।स्टेटकाउंसलरकेकार्यालयकीओरसेदीगईजानकारीकेमुताबिकतकरीबन150रोहिंग्याविद्रोहियोंनेदोदर्जनसेज्यादापुलिसचौकियोंऔरएकसैन्यअड्डोंपरतेजहमलाकिए।इसहमलेमेंदेसीबारूदीसुरंगोंकाभीप्रयोगकियागया।रखाइनकेसाथ-साथबुथिदाउंगशहरभीभीषणहिंसाकाशिकारहुआ।धार्मिकघृणाकेचलतेबंटेतटीयदेशमेंपिछलेसालअक्टूबरसेचलरहीहिंसामेंयहसबसेबड़ाहमलाथा।रोहिंग्यामुसलमानबांग्लादेशसेआएहुएबताएजातेहैं।अवैधप्रवासीबताकरम्यांमारनेइन्हेंनागरिकतादेनेसेइन्कारकरदियाहै।रोहिंग्यासमुदायकेखिलाफपिछलेवर्षसेनानेबड़ीकार्रवाईकीथी,जिसकीवजहसेलगभग87हजाररोहिंग्यामुसलमानबांग्लादेशचलेगएथे।

भारतमें14हजाररोहिंग्यामुस्लिमशरणार्थीकेरूपमेंपंजीकृत

बांग्लादेशकीतरहभारतमेंभीरोहिंग्याशरणार्थीपहलेसेमौजूदहैं।अबनएशरणार्थियोंकेआनेकीसंभावनाएंबढ़गईहैं।भारतमेंरोहिंग्याशरणार्थीजम्मू,उत्तरप्रदेश,हरियाणा,दिल्ली,हैदराबादऔरराजस्थानमेंरहरहेहैं।भारतसरकारइनकोबांग्लादेशभेजनेकीतैयारीमेंहै।गृहमंत्रालयनेपिछलेमहीनेजानकारीदीथीकिभारतमेंरहरहे14हजाररोहिंग्याशरणार्थियोंकोसंयुक्तराष्ट्रकीसंस्थानेपंजीकृतकियाहै।इससेभारतमेंदशकोंसेरहरहेबाकीरोहिंग्याशरणार्थीअवैधमानेजाएंगे।इसलिएउनसभीअवैधरोहिंग्याशरणार्थियोंकोअबबाहरभेजाजाएगा।दरअसलभारतनेसंयुक्तराष्ट्रकंवेंशनमेंशरणार्थियोंकोलेकरकोईदस्तखतनहींकिएहैं।इसलिएदेशमेंशरणार्थियोंपरकोईराष्ट्रीयकानूननहींहै।फिलहालइसमेंकूटनीतिकस्तरपरबांग्लादेशवम्यांमारसेबातचीतजारीहै।

By Farrell