चन्दौसी:हरे-भरेपौधेजीवनदायकहैं।पौधोंसेहीजीवनसम्भवहै।पौधोंसेहीमानवसांसलेपाताहै।पौधेनहींहोंगेतोजीवनअसम्भवहै।जबकितरक्कीकेइसदौरमेंजंगलातखत्महोतेजारहेहैं।जंगलोंकाकटानकरकालोनियांबसाईजारहीहैं।ऐसेमेंपर्यावरणपरखतरामंडरानेलगाहै।जंगलातकटनेसेमौसममेंभीफेरबदलहोरहाहै।समयसेबारिशनहींहोतीतोनहीहीकड़ाकेदारसर्दीसमयसेपड़तीहै।पर्यावरणसंतुलनकेलिएपौधरोपणकरनाभीआवश्यकहोगया।हरनागरिककीजिम्मेदारीबनगईहैकिवहअपनेजन्मदिनपरएकपौधाजरुरलगाएऔरउसकीदेखभालकरपौधेकोवयस्ककरे।जिससेमानवकोजीवनसुरक्षितकरनेकेलिएसांसलेनेकोपौधोंसेऑक्सीजनमिलसके।दैनिकजागरणअभियानचलाकरलगातारलोगोंकोपौधरोपणकेलिएजागरूककररहाहै।इसकेतहतशुक्रवारकोसीतारोडस्थितश्रीरघुनाथब्रह्मचर्याश्रमपरिसरमेंदुकानदारोंऔरनागरिकोंनेपौधोंकारोपणकरपर्यावरणसंरक्षणकासंदेशदिया।चारपौधेलगाएगए।

इसअवसरपरअनुजवाष्र्णेयअन्नू,विशालमैकडोनल,रतनवाष्र्णेय,अंशुलकुमार,राजेशरस्तोगी,प्रियांशुरस्तोगी,रजनीशशर्मासमेततमामलोगोंकीभागीदारीरही।

By Doyle