मनमोहनवशिष्ठ,सोलन

जरूरीनहींकिअच्छीनौकरीकरकेहीपैसाकमायाजासकताहैऔरअच्छाजीवनजीयाजासकताहै।मनमेंकामकरनेकीदृढ़इच्छाशक्तिहोतोखेतोंमेंकार्यकरकेभीलखपतिबनसकतेहैंयानीलाखोंरुपयेकमासकतेहैं।सोलनकेशिल्लीगांवकेमनदीपवर्मानेभीमनमेंखेतीकरनेकीठानली।विप्रोकंपनीमेंमैनेजरकीनौकरीछोड़करबंजरजमीनकोहराभराबनानेमेंजुटगए।मनदीप14बीघाजमीनकीवीकीखेतीकररहेहैं।इससेवहलाखोंरुपयेकमारहेहैं।

शिल्लीगांवमेंतैयारकीवीकास्वादपूरादेशचखरहाहै।ऑर्गेनिकखेतीसेबेहतरक्वालिटीकीकीवीतैयारकरदेशभरमेंमिसालबनरहेमनदीपवर्माकीमेहनतऔरोंकेलिएभीप्रेरणाबनगएहैं।वहनकेवलकीवीकाउत्पादनबल्किइसकीनर्सरीभीतैयारकरअच्छामुनाफाकमारहेहैं।अबवहसेबके500पौधेलगाकरसेबकेउत्पादनमेंभीआगेबढ़रहेहैं।

2014सेकररहेहैंखेती

मनदीपवर्मानेबतायाकि2014मेंगुरुग्रामस्थितविप्रोकंपनीमेंवहमैनेजरकेपदपरकार्यरतथे।उनकीपत्नीभीकंपनीमेंसचिवकेपदपरकार्यरतथी।इसदौरानमनमेंख्यालआयाकिघरमेंपुश्तैनीजमीनबंजरबनरहीहैतोनौकरीछोड़कीवीकाउत्पादनकरनाशुरूकिया।सोलनकेबागवानीविभागऔरडॉ.वाईएसपरमारविविनौणीकेवैज्ञानिकोंसेसलाहकेबादकीवीकाबगीचातैयारकिया।वर्तमानमेंवह14बीघाजमीनपरकीवीकाउत्पादनकररहेहैं।इसवर्षपांचसेछहटनकीवीउत्पादनकीउम्मीदहै।वहऑर्गेनिकखेतीकररहेहैं।

ऑनलाइनहीबिकजाताहैसाराउत्पाद

मनदीपनेबतायाकिवहबगीचेमेंतैयारफलकोबेचनेकेलिएबाजारमेंनहींजातेअपितुघरसेहीसाराउत्पादबिकजाताहै।उन्होंनेवेबसाइटबनाईहै,उससेऑनलाइनहीकीवीकीबुकिगकरसप्लाईकीजातीहै।देशभरमेंसप्लाईभेजीजातीहै।हालांकिसोलनमेंभीकीवीकीअच्छीखपतहै।डिब्बेपरकबफलटूटा,कबडिब्बापैकहुआसारीडिटेलदीजातीहै।एकडिब्बेमेंएककिलोकीवीपैकहोतीहैऔरइसकेदाम350रुपयेप्रतिबॉक्सहै।वहकीवीउत्पादनवनर्सरीसेसालानाआठसेदसलाखरुपयेकमारहेहैं।

By Dyer