संवादसहयोगी,छिबरामऊ:पर्यावरणहितमेंअपनासपना,हरविद्यालयहोएकस्मृतिउपवनअपना.इससकारात्मकसंदेशदेतीसोचकेसाथशिक्षककीदेखरेखवमार्गदर्शनमेंपरिषदीयविद्यालयकेनौनिहालआजादस्मृतिउपवनमेंपौधोंकोतैयारकररहेहैं।इसकेबादइनपौधोंकोबैगकेमाध्यमसेदूसरेविद्यालयमेंहरियालीलानेकेलिएशिक्षकोंकोसौंपरहेहैं।विद्यालयकेशिक्षकवबच्चोंकायहअनूठाकार्यलोगोंकेबीचचर्चाकाविषयबनगयाहै।

यहविद्यालयमुरलीनगलामेंस्थितहै।यहांपरशिक्षकसुमितगुप्ताकीदेखरेखमेंबच्चेउनकीइसमुहिमकोआगेबढ़ारहेहैं।इसविद्यालयपरिसरमेंसैकड़ोंपौधेतैयारहोचुकेहैं।इनमेंगुलाबवकमलसहितविभिन्नप्रकारकेफूलोंसेसंबंधितपौधोंकेअलावाफलदारपौधेभीहै।विद्यालयमेंपढ़ाईकरनेकेबादबच्चेइनकीपूरीदेखभालकरतेहैं।बच्चोंमेंइनपौधोंकीसुरक्षाकोलेकरभीविशेषउत्साहरहताहै।सुबहविद्यालयआनेकेबादसबसेपहलेबच्चेअपनेपौधोंतकपहुंचतेहैं।शिक्षकसुमितगुप्तानेकहाकिप्राथमिकविद्यालयआसकरनपुर्वाकोप्यारेबच्चोंनेपौधोंकाअनमोलउपहारभेजाहै।बच्चोंनेबड़ेउत्साहसेकपड़ेकेथैलोंमेंइसउपवनमेंशून्यनिवेशमेंतैयारपौधेव्यवस्थितकररखे।बच्चोंकेमनमेंपौधोंकेप्रतिप्रेमउत्पन्नकरनेकेलिएजागरणकीमुहिमकामआई।बच्चोंनेसमाचारपत्रमेंइसकोपढ़ाऔरउनकेसाथइसउपवनकोतैयारकरनेमेंसहयोगकिया।

By Farrell