संवादसहयोगी,झींझक:अभिभावकबच्चोंकोस्कूलमेंपढ़ाईकेलिएभेजतेहैं।अलबत्तागुरुजीबच्चोंकोपढ़ानेसिखानेकेबजायसाफसफाईमेंलगादेतेहैं।संदलपुरब्लाककेलौवापुरवास्कूलकायहनजाराप्रतिदिनकाहै।

परिषदीयविद्यालयोंकोकांवेंटकीतर्जपरविकसितकरनेकेप्रयासहोरहेहैं।शासनवविभागीयअफसरोंसेगुरुजीकोविद्यालयसंचालनवबच्चोंकोपढ़ानेसमझानेकेतरीकेआदिकेबारेमेंखूबघुट्टीपिलाईजातीहै।बावजूदइसकेस्कूलोंमेंतैनातअध्यापकप्राथमिकताओंकोताकपररखमनमानीकरतेहैं।देरीसेआनाऔरजल्दीचलेजानातोआमहोगयाहै।सहीतरीकेसेपठनपाठननहोनेसेबच्चोंकीशैक्षिकगुणवत्तागिररहीहै।अफसरोंकेनिरीक्षणमेंखराबस्थितिलगातारपायीजारहीहै।अभिभावकपढ़नेकेलिएबच्चोंकोस्कूलभेजकरबेफिक्रहोजातेहैंकिउनकाबच्चापढ़रहाहोगा।इधरगुरुजीहैकिअभिभावकोंकीबेफिक्रीकागलतफायदाउठानेसेबाजनहींआरहेहैँ।संदलपुरब्लाककेप्राथमिकविद्यालयलौवापुरवामेंप्रतिदिनसुबहएकसानजाराहोताहै।यहांपढ़नेआएबच्चोंकोअध्यापकभवन,कक्षाकक्षवपरिसरकीसफाईकेलिएझाड़ूथमादेतेहैं।नौनिहालपरिसरकीसफाईकीमशक्कतमेंलगजातेहैंऔरगुरुजीकुर्सीपरआरामफरमातेरहतेहैं।अहमबातयेकिबच्चोंसेसाफसफाईकराईजासकेइसकेलिएछहसेअधिकझाड़ूखरीदकररखीगईहै।बीईओसंदलपुरज्ञानप्रकाशअवस्थीनेबच्चोंसेविद्यालयपरिसरकीसफाईकरानेकोगंभीरतासेलिया।उन्होंनेबतायाकिप्राथमिकविद्यालयलौवाकेप्रधानाध्यापकशशिशेखरकास्पष्टीकरणतलबकियाजारहाहै।जवाबआनेकेबादप्रकरणमेंआगेकीकार्रवाईकीजाएगी।