जासं,मैनपुरी:शहरकेवार्डनगरियामेंबुनियादीसुविधाएंभीनहींहैं।नालियांनहोनेकीवजहसेलोगोंनेमुख्यसड़ककोकईजगहोंसेकाटदियाहै।इसकाखामियाजाजलभरावकेरूपमेंभुगतनापड़रहाहै।

परिषदीयस्कूलपुरोहितानासेआगेचलतेहीनगरियाकीसीमाशुरूहोजातीहै।यहांसीसीसड़कबनीहुईहैलेकिनसड़ककेदोनोंओरएकभीनालीनहींहै।ऐसेमेंकॉलोनियोंमेंरहनेवालेलोगोंद्वारासड़कोंपरपानीछोड़दियाजाताहै।वर्षोंसेअव्यवस्थाकेकारणगंदापानीप्लाटोंमेंभरतारहा।अबप्लाटभरचुकेहैं।जलभरावसेबचनेकेलिएलोगोंनेमनमानेढंगसेसड़ककोदर्जनभरस्थानोंपरखोददियाहै।

ऐसेमेंगंदापानीसड़कोंसेहोकरदूसरीओरभररहाहै।इससेपूरीसड़कपरजलभरावहोगयाहै।इससड़कसेरोजानासैकड़ोंलोगोंकाआना-जानाहोताहै।उन्हेंगंदेपानीसेहोकरगुजरनापड़रहाहै।अक्सरजलभरावऔरटूटीसड़ककेकारणवाहनफिसलनेसेचालकचोटिलहोजातेहैं।स्थानीयनिवासीराजूखान,विनोदकश्यप,रामऔतारशाक्य,नसरीनबानो,रुबीनाआदिनेसड़ककीमरम्मतकरानेकीमांगकीहै।

'अधिकांशलोगोंनेसड़कोंपरअपनेनिर्माणकरालिएहैं।जिससेनालियोंकेनिर्माणमेंअसुविधाहोरहीहै।प्रस्तावबोर्डमेंरखागयाहै।कईसड़कोंकीमरम्मतकराईगईहै।नालियोंकेनिर्माणऔरजलनिकासीकेलिएस्थानीयलोगोंसेभीसहयोगकीअपीलकीगईहै।सभीकेसहयोगसेयहांनिर्माणकार्यकरायाजानाहै।लक्ष्मीदेवी,सभासद।

By Dyer