अलीगढ़:नदियां,नहरेंवरजबहाखेतोंमेंखड़ीफसलोंकीसिंचाईवपलेवाआदिकेलिएहोतेहैं।यहसबभलीभांतिजानतेहोंगे,लेकिन,सिंचाईविभागकीअनदेखीकेचलतेअतरौलीमेंइसकाउलटहोरहाहै।पिलखुनीकेपाससेगुजररजबहायानौरथावअशरफाबादकेपाससेगुजररहीनीमनदीइनमेंवर्षोसेपानीनहींआया।अबहालातयहहैंकिकिसानइसरजबहाऔरनीमनदीमेंफसलउगानेलगेहैं।इनमेंलहलहातीफसलोंकीसिंचाईनलकूपोंसेकीजारहीहै।किसानोंनेरबीकीफसलोंकेसमयरजबहामेंपानीछोड़नेकीमांगकईबारविभागीयअधिकारियोंसेकीहैलेकिनउनकीसमस्याकाहलआजतकनहींनिकालागयाहै।मजबूरनउन्हेंनलकूपवइंजनतथाट्रालीआदिसेमहंगेडीजलकेसहारेफसलोंकीसिंचाईकरनेकोमजबूरहोनापड़रहाहै।

अतरौलीक्षेत्रकेउत्तरपश्चिममेंगांवपिलखुनीकेनिकटरजबहानिकलरहाहै।इसमेंवर्षोसेपानीनहींआया।इसरजबहामेंबारिशकेदिनोंमेंपानीआताहै।उससमयकिसानोंकोपानीकीजरूरतनहींहोती।उनदिनोंरजबहाकापानीकिसानोंकीफसलोंकोबर्बादकरताहुआआगेबढ़जाताहै।हालांकियहकुछदिनहीऐसाहोताहैलेकिनसैकड़ोंकिसानोंकोबारिशकेदिनोंमेंअपनीफसलोंसेहाथधोकरइसकादंशझेलनापड़ताहै।

पड़ोसीजनपदबुलंदशहरकेगांवोंसेगुजरतीहुईनीमनदीभीअतरौलीकेउत्तरपश्चिमीदिशाकेगांवोंकेकिसानोंकेलिएइनदिनोंफसलउगानेमेंमुफीदसाबितहोतीहै।इसमेंभीबारिशकेदिनोंमेंहीपानीआताहै।उनदिनोंकिसानोंकोइसकापानीमुसीबतपैदाकरताहै।जबकिइनदिनोंयहसूखीरहतीहै।

जितनीसरहदउतना

घेरारजबहावनीमनदी

नीमनदीवरजबहामेंइनदिनोंरबीकीफसलेंलहलहारहीहैं।अबसवालयेउठताहैकिसरकारीभूमिपरफसलकोईकैसेउगासकताहै।इसेभीविभागीयअधिकारीनहींदेखते।नआजतककिसीकेखिलाफकार्रवाईकीगई।इसकाफायदानदीवरजबहाकेनिकटखेतवालेकिसानकीउठातेहैं।हरकोईकिसानइनमेंफसलनहींकरता।जिसकिसानकीसरहदमेंजितनाएरियाहोताहैउतनेमेंमेड़बंदीकरकेकिसाननदीवरजबहामेंफसलकरतेहैं।इनमेंज्यादातरवरसीम,जईवसरसोंकीफसलेंकीकरतेहैं।

किसानोंकेबाले

पिलखुनीकेकिसानकलियानसिंह,शेखूपुरकेरामप्रकाश,इनायतपुरकेउदयवीरसिंह,शेखूपुरपनिहाराकेइंद्रपालसिंहबतातेहैंकिनदीवरजबहाकाक्षेत्रकेकिसानोंकोकोईलाभनहींमिलरहा।करीबदोदशकसेइसीतरहसूखेदेखेहैं।कुछलोगोंनेअपनीसरहदमेंइनमेंफसलेंबोरखीहैं,जिसकाफायदाउठारहेहैं।बाकीलोगोंकेलिएतोरजबहासफेदहाथीहीसाबितहोरहाहै।

अतरौलीक्षेत्रमेंपिलखुनीकेपासगुजररहारजबहामध्यगंगनहरकाखरीफचैनलहै,जोकभीकभारखरीफसीजनमेंहीचलताहै।जूनकेबाददिसंबरतकहीइसमेंपानीछोड़ाजाताहै।

-पवनकुमारअधिशासीअभियंता,गंगनहर

By Dyer