कोरोनासंक्रमणकीदूसरीलहरनेभारतकोबुरीतरहप्रभावितकिया।अस्पतालोंकीव्यवस्थाएंचरमरानेसेलोगोंकीजिंदगियांदांवपरलगगईं।ऑक्सीजन,वेंटिलेटरऔरअन्यमेडिकलसुविधाएंपर्याप्तनहींहोनेकेकारणलोगोंकोठीकसेइलाजनहींमिलसका।लेकिनकेंद्रसरकारऔरविभिन्नराज्योंकेसमन्वयनेस्थितियांकाबूमेंकरनाशुरूकरदीहैं।यहीनहीं,दुनियाभरसेभारतकोऑक्सीजन,वेंटिलेटरऔरअन्यमेडिकलचीजोंकीमददमिलरहीहै।बतादेंकिभारतमेंअबतक1,76,25,735केसआचुकेहैं।हालांकिइनमेंसे1,45,45,342ठीकभीहोचुकेहैं।

दुनियाकेदूसरेसबसेकोरोनासंक्रमितदेशबनेभारतमेंमेडिकलसुविधाओंकीकमीकेचलतेखासीदिक्कतेंउठानीपड़ीं।लेकिनजितनीतेजीसेव्यवस्थाएंसुधारीगईं,उससेलोगोंकोराहतमिली।ऑक्सीजन,वेंटिलेटरऔरअन्यमेडिकलसुविधाएंपर्याप्तनहींहोनेकेकारणलोगोंकोठीकसेइलाजनहींमिलसका।लेकिनकेंद्रसरकारऔरविभिन्नराज्योंकेसमन्वयनेस्थितियांकाबूमेंकरनाशुरूकरदीहैं।यहीनहीं,दुनियाभरसेभारतकोऑक्सीजन,वेंटिलेटरऔरअन्यमेडिकलचीजोंकीमददमिलरहीहै।बतादेंकिभारतमेंअबतक1,76,25,735केसआचुकेहैं।हालांकिइनमेंसे1,45,45,342ठीकभीहोचुकेहैं। इसबीचब्रिटेनसे100वेटिंलेटरऔर95ऑक्सीजनकंसन्ट्रेटरकीएकखेपभारतपहुंचचुकीहै।

By Douglas