औरंगाबाद।मगहीपानकीखेतीकेलिएमशहूरदेवप्रखंडकेदक्षिणीइलाकेसेखेतीसमाप्तहोतेजारहाहै।पानकृषकोंकोमेहनतवलागतअधिकऔरआमदनीकमकेकारणकिसानइसखेतीकोछोड़दूसरेखेतीकोअपनारहेहै।सरकारीउपेक्षाकेकारणकिसानोंकेबच्चेइसखेतीसेविमुखहोरहेहैं।देवकेएरकीटोलेगिधौल,केताकी,खेमचंदबिगहा,भत्तुबिगहा,तेजूबिगहा,योधपुरगांवमेंचौरसियाबिरादरीकेकिसानइसखेतीकोपारंपरिकतरीकेसेकईवर्षोंसेकरतेआरहेहैं।पहलेयहांकापानबड़ेपैमानेपरजिलामुख्यालयकेअलावागया,वाराणसीएवंकोलकातातकजाताथाआजनिर्यातहोनाबंदहोगया।पानीकीखेतीमेंकिसीभीतरहकीआधुनिकतानहींदिखतीहै।कृषिमेंनईक्रांति,¨सचाईमेंआधुनिकताकेबावजूदकिसानपानीकीखेतीकोमिट्टीकेघड़ेसेपटवनकरतेहैं।सरकाऔरपुआलसेबरेवकाछजनीकरतेहैं।गिधौलगांवनिवासीकिसानशैलेशचौरसियानेबतायाकिपानकीखेतीमेंमेहनतऔरलागतअधिकलगतीहैपरआमदनीउसअनुपातमेंनहींहोतीहै।पानकीखेतीपरजबझूलसारोगहोजाताहैतोकिसानोंकीकमरटूटजातीहै।पूरीपूंजीडूबजातीहै।पानकेपत्तेपररोगहोनेकोईभीअधिकारीदेखनेनहींपहुंचतेहैं।किसानोंनेबतायाकिमजदूरोंकीकमीकेकारणस्वयंपानकीरोपाईकरतेहैं,पटवनकरतेहैं,बरेवकीछजनीकरतेहैं।किसानोंनेबतायाकिअगरखेतीसुधरजातीहैकिसानोंकोलालकरदेतीहै।एककट्ठाकीखेतीमेंएकलाखसेअधिककीआमदनीप्राप्तकीजासकतीहै।पानकेकिसानोंकोक्षतिपूर्तिदियाजाताहै।खेतीकोबढ़ावादियाजाएगा।सरकारचाहतीहैकिपानकीखेतीकोबढ़ावामिले।

राजेशप्रताप¨सह,जिलाकृषिपदाधिकारी,औरंगाबाद।

By Dunn