चंदवा:दैनिकजागरणकेराष्ट्रस्तरीयपौधालगाएंवृक्षबचाएंअभियानकेतहतराजकीयबालकमध्यविद्यालयपरिसरमेंगुरुवारकोपौधरोपणकेसाथउनकेसंरक्षणकासंकल्पलियागया।मौकेपरविद्यालयप्रधानाध्यापिकासवितासिन्हानेकहाकिपौधरोपणवउनकेसंरक्षणसेहीस्वच्छवस्वस्थभारतकानिर्माणहोगा।

उन्होंनेकहाकिपेड़-पौधोंसेकईतरहकीजड़ी-बूटियांमिलतीहैं,जिससेकईअसाध्यरोगोंकाइलाजसंभवहोपाताहै।पौधेभूमिमेंजलकासंरक्षणकरतेहैं।जीवोंकाआहारप्रदानकरतेहैं।गर्मीकीतपतीदोपहरीमेंजीवोंकोवृक्षोंकीशीतलछायामेंसुखकीअनुभूतिहोतीहै।इनसेइमारतीलकड़ी,औषधि,फल-फूलसमेतकईसामग्रियांमिलतीहैं।वृक्षवायुप्रदूषणकेखिलाफलड़ाईलड़करसमस्तजीवोंकोस्वच्छवायुप्रदानकरतेहैं।येमानसूनचक्रकोसंयमितकरतेहैं।मृदाक्षरणपरभीरोकलगातेहैं।विद्यालयप्रबंधनसमितिअध्यक्षधनेश्वरउरांवनेपौधरोपणकरतेकहाकिजीवोंकोप्राकृतिकसौंदर्यवस्वास्थ्यकाउपहारवृक्षहीप्रदानकरतेहैं।इनकेबिनाजीवनकीकल्पनाअसंभवहै।शिक्षिकामनीषाधवनवविजयालक्ष्मीनेकहाकिऔद्योगीकरणवविकासकेनामपरअंधाधुंधवृक्षोंकोकाटेजानेकेकारणपर्यावरणअसंतुलितहोगयाहै।ग्लोबलवार्मिंगकाअसरदेखनेकोमिलरहाहै।प्रत्येकव्यक्तिपौधरोपणवउनकासंरक्षणकरएकजिम्मेवारनागरिकहोनेकाकर्तव्यनिभासकताहै।उपस्थितसभीलोगोंकोपौधरोपणवउनकेसंरक्षणकासंकल्पदिलायागया।मौकेपरबिनोदरॉय,शरदश्रीवास्तव,बालसंसदप्रधानमंत्रीसृष्टिकुमारी,उपप्रधानमंत्रीसचिनकुमारसमेतअन्यउपस्थितथे।

By Dodd