प्रदीपकुमारसिंह,फरीदकोट

पचाससालमेंकाफीबदलगयाफरीदकोट।बठिडाजिलेसेअलगकरफरीदकोटकोपंजाबके12वांजिलाबनायागयाथा।सुविधाओंकेनामपरउससमयफरीदकोटमेंजोकुछथा,वहसभीफरीदकोटरियासतद्वाराबनायागयाथा।तबऔरअबमेंबहुतज्यादाअंतरदिखाईदेरहाहै।

इन50सालमेंफरीदकोटमेंबड़ीउपलब्धियोंकेनामपरबाबाफरीदयूनिवर्सिटीआफहेल्थसाइंस,बीएसएफहेडक्वार्टर,सैन्यछावनी,मेडिकलकालेजअस्पताल,मार्डनसेंट्रलजेल,आइजीजोन,कमिश्नरी,मार्डनरेलवेस्टेशन,अच्छीसड़कें,रेलवेओवरव्रिज,हाकीएस्टोट्रफस्टेडियमआदिकेअलावाशिक्षाकेक्षेत्रमेंभीबड़ेबदलावहुएहै।इसकेअलावानिजीसेक्टरमेंभीसराहनीयप्रयासहुएहै।

हालांकिसमयकीसरकारोंद्वाराफरीदकोटकेविकासकोलेकरकोईबड़ाप्रोजेक्टतोनहींदियागयाहै,परंतुधीमीगतिसेहीसहीफरीदकोटअपनेमाडर्नबनगयाहै।जिलेमेंआजसभीहिस्सोंमेंअच्छीसड़कें,सरकारीवनिजीसेक्टरमेंअच्छेअस्पताल,स्वच्छपेयजल,पार्क,इंटरलाकिगटाइलें,बिजलीजैसीमूलभूतसुविधाएंदिखाईदेरहीहै।फरीदकोटकेग्रामीणहिस्सोंकीदशावदिशाबदलनेमेंमनरेगानेभीअहमभूमिकाअदाकीहै।गांवोंमेंअब-सफाईकेसाथहीअच्छेपार्कवमाडर्नतालाबलोगोंकेआर्कषणकाकेन्द्रहैं।आजादीकेबादसेफरीदकोटएकसेक्टरमेंहमेशासेहीपीछेरहाहैवहहैबड़ेउद्योग-धंधे।

फरीदकोटजिलाबननेमेंकोटकपूराकेनजदीकीगांवसंधवांमेंजन्मेंतत्कालीनमुख्यमंत्रीज्ञानीजैलसिंहकाअहमरोलरहाहै,उन्होंनेफरीदकोटकोजिलाहीनहींबनायाबल्किमेडिकलकालेजअस्पतालजैसीदूसरीबुनियादीसुविधाएंलोगोंकोमुहैयाकरवाई।फरीदकोटपूर्वमुख्यमंत्रीप्रकाशसिंहबादलवपूर्वउपमुख्यमंत्रीसुखबीरसिंहबादलकीभीराजनीतिककर्मभूमिरहीहै।फरीदकोटसंसदीयसीटहोनेकेकारणयहांसेकईबड़ेनेतानिकलेजोदेशभरमेंलोगोंकीआवाजबने।खेलकेसेक्टरखासकरहाकीमेंफरीदकोटकोनर्सरीकेरूपमेंदेखाजातारहाहै।यहांकेकईनेशनलवइंटरनेशनलखिलाड़ीनिकले,जिन्होंनेफरीदकोटकानामऊंचाकिया।

फरीदकोटजबजिलाघोषितकियागयाथा,उससमयशहरकेकुछहिस्सोंकोछोड़करशेषहिस्सोंमेंवीरानीदिखाईदेतीथी,परंतुउसकेबादतेजीसेविकासहुआ,अबचहुंओरबड़ी-बड़ीइमारतेंवखुशहालीदिखाईदेतीहै।