बागपत,जेएनएन।कोरोनावायरससेबचावकोलेकरलागूलॉकडाउनमेंकईलोगोंकीदिनचर्याबदलरहीहै,तोकईनेअपनाकाम-धंधाहीबदलदियाहै।उदाहरणकेतौरपरबड़ौतशहरकेबड़कारोडस्थितअतिशयकालोनीकेरहनेवालेसोनूकोहीलेंतोपिछलेएकसप्ताहसेवहई-रिक्शामेंसब्जियांबेचरहेहैं।सोनूनेबतायाकिवहई-रिक्शामेंबड़ौतशहरमेंसवारियांढोनेकाकामकरतेथे,लेकिनलॉकडाउनकेकारणशहरमेंई-रिक्शाओंकासंचालनबंदहोगया,जिसकेकारणरिक्शाघरपरहीखड़ीकरनीपड़गई।कमाईकाजरियाबंदहोनेसेपरिवारकेसामनेआर्थिकसंकटमंडरागया।उसकेबादउन्होंनेई-रिक्शामेंसब्जियांबेचनेकाकामशुरूकरदिया।सोनूनेबतायाकिहररोजवहदोगांवमेंसब्जियांबेचनेजातेहैं।औसिक्का,ईदरीशपुर,जौहड़ी,वाजिदपुर,खड़खड़ी,जलालपुर,बावलीऔरबरवालागांवमेंसब्जियांबेचतेहैं।वहएकदिनअवकाशरखतेहैंऔरएकदिनसब्जीबेचतेहैं।इसकार्यमेंवहमहताबकासहयोगलेतेहैं।ई-रिक्शामेंजबसवारियांढोतेथेतोएकदिनमें700से800रुपएतककमालेतेथे,लेकिनअबएकदिनमेंलगभग500रुपयेहीकमातेहैंऔरउसमेंसेमहताबकोभीदेतेहैं।

By Duffy