पितानेऑनलाइनफ्रीफायरगेमखेलनेसेमनाकियातो10वींमेंपढ़नेवालाबेटाघरछोड़करभागगया।मामलाकंकड़बागथानाइलाकेकेपूर्वीइंदिरानगरकाहै।छात्रमयंककुमार15जुलाईकोहीघरछोड़करभागगया।इससंबंधमेंपिताकामदेवपंडितनेकंकड़बागथानेमेंलिखितआवेदनदियाहै।कामदेवमूलरूपसेनालंदाकेरहनेवालेहैं।

पूर्वीइंदिरानगरमेंकिराएपररहतेहैं।वेआरएमएसकाॅलोनीस्थितएकस्कूलमेंशिक्षकहैंऔरउसीस्कूलमेंमयंकपढ़ताहै।घरछोड़नेसेपहलेबेटानेएकपत्रभीलिखाहै,जिसमेंउसनेलिखाहैकिआपकागेमखेलनेवालाबेटा,मोटूपतलूदेखनेवालाबेटाअबबड़ाहोगयाहै।मैंबहुतबुराहूं।आपकानेटखत्मकरदेताहूं।बैठकरखालीखाताहूं।अबअपनेदमपरसबकुछकरूंगा।मेराइंतजारकीजिएगा।इधरथानेदाररविशंकरसिंहनेकहाकिपुलिसछात्रकापतालगारहीहै।उसकेमोबाइलकोसर्विलांसपररखागयाहै।जांचचलरहीहै।

पत्रमेंलिखा-पुलिसकोबतायातोलौटकरमुर्देकीतरहरहूंगा

घरछोड़करभागनेसेपहलेमयंकनेघरमेंरखेबोर्डपरलिखा-आईएमसॉरी।इसकेबादएकपत्रमेंलिखा-इसबातकोप्राइवेटहीरखिएगा।पब्लिकमतकीजिएगा।अगरपुलिसकोबतातेहैंऔरपुलिसमुझेखोजलेतीहैतोमैंघरतोलौटआऊंगा,लेकिनमुर्देकीतरहहीरहूंगा।अबजोकरनाहैअपनेदमपरकरूंगा।मेराशरीरआपकीतरहहै,लेकिनदिमागमम्मीकीतरहहै।मुझमेंकोईअच्छाईनहींहै।दिमागकामनहींकररहाहै।

पितानेकहा-पढ़ाईपरफोकसनहींथा

पितानेकहाकिपिछलेएकमहीनेसेमयंककाफीगेमखेलनेलगाथा।पढ़ाईपरफोकसनहींकररहाथा।इसीकारणउसेडांटा।कईबारउसेसमझायाथा।15जुलाईकोमैंऑनलाइनक्लासलेनेचलागया।बेटीकाॅलेजचलीगईऔरमेरीपत्नीकिसीकामसेबाहरचलीगईथी।बेटाघरपरअकेलाथा।इसीबीचवहचिट्‌ठीलिखकरघरसेकहींनिकलगया।16जुलाईकोसुबह-सुबहह्वाट्सएपपरमैसेजकिया-मुझेडरलगरहाहै।धोबीकाकुत्तानघरकानघाटका।

एक्सपर्टनेकहा-अभिभावकोंकोभीसमझनाहोगागेमकापूराखतरा

फ्रीफायरगेमकेआदीबच्चेऑनलाइनक्लासकेसमयभीगेमखेलरहेहैंऔरमोबाइललेकरटॉयलेटमेंभी।इसमें13-14सालकीउम्रबताकरबड़ीउम्रकेऔरएक्सपर्टखिलाड़ीअपनीआईडीचलारहेहैं।वहमोबाइलगेमखेलनेवालेबच्चोंकोप्रोवोककरतेहैंकिइतनाक्रेडिटप्वाइंटबनानातुम्हारेवशकानहीं।गेम्सएक्सपर्टशुभमवर्माबतातेहैंकिऐसाकहेजानेसेबच्चेज्यादासमयज्वाइंटग्रुपमेंगेमजीततेहुएक्रेडिटप्वाइंटबढ़ानेकीकोशिशकरतेहैं।नहींकरपानेपरअच्छीक्रेडिटप्वाइंटवालीगेमआईडीखरीदनेकेलिएचोरी-हेराफेरीभीकरनेलगतेहैं।

आईडीकाअच्छाक्रेडिटप्वाइंटहोगयातोबेचनेकेलिएबोलीलगवातेहैं,नहींतोऐसीआईडीखरीदनेकेलिएबोलीमेंशामिलहोतेहैं।यहबोलियांअमूमनरात12-1बजेसेसुबह5बजेतकलगतीहैं।यहबोलीबिहारमें500रुपएसे42हजाररुपएतककीलगतीहै।कईबारबोलीलगाकरआईडीबेचनेवालापैसालेकरभीआईडीट्रांसफरनहींकरताहै,जिसकेकारणभीअप्रियघटनाएंहोतीहैं।

साइकोलॉजिस्टबोले:हरएक्शनपरनजररखें,रिएक्शननदिखाएं

क्लिनिकलसाइकोलॉजिस्टडॉ.मनोजकुमारबतातेहैंकिपटनाके4-5मनोचिकित्सकोंकेपासकाउंसिलिंगकेलिएरोज10-12ऐसेकेसआरहेहैं।उनकेपास4-5ऐसेबच्चोंकोलोगरोजदिखानेभीआरहेहैं।गेमआईडीखरीदनेकेलिएघरसेपैसेचोरीकेदर्जनोंकेसउनकेपासहैं।वहबतातेहैंकियूपीआईसेपैसाट्रांसफरकाभीकेसआचुकाहैऔरकिसीसेउधारपैसेलेकरफ्रीफायरकीआईडीखरीदनेवालेबच्चोंकीभीकाउंसलिंगकररहेहैं।कहा-बच्चोंकेव्यवहारपरनजररखनाइससेबचानेकेलिएसबसेज्यादाजरूरीहै।

डॉ.मनोजकहतेहैंकिबच्चाबिनाचबाएखाए,रातभरजागे,धैर्यकीकमीदिखाए,खुदकोनुकसानपहुंचानेकीकोशिशकरे,ज्यादादेरबाथरूममेंरहेतोसावधानहोजानाचाहिए।बच्चोंकामनोविज्ञानसमझातेहुएप्रख्यातमनोवैज्ञानिकडॉ.बिंदासिंहकहतीहैंकियहशराब-सिगरेटजैसाएडिक्शनहै।सीधेरोकेंगेतोरिएक्शनदिखेगा।

वैसेभीबच्चेकोरोनाकालमेंअकेलेहैं।उन्हेंइसमेंकमाईतकदिखतीहैऔरजीतनेकाजुनूनतोहैही।इसलिए,जबभीमोबाइलदेंतोवाचफुलरहें।अगरबच्चाछोटाहैतोअपनेसाथबैठाएं।लतलगनेकेपहलेहीसमझाकरकंट्रोलकियाजासकताहै।इसकेलिएसाथबैठना,बातेंकरना,स्टोरीबुकपढ़नाहोगा।एक्स्ट्राएफर्टतोकरनाहीहोगा।फीलिंगसमझकरउन्हेंप्यारसेसमझानाहोगा।

पटनामेंनामीमनोचिकित्सकोंकेपासरोजऐसे10-12बच्चोंकीहोरहीकाउंसिलिंग

फरवरीमेंगोपालगंजकेकुचायकोटमेंफ्रीफायरगेमकेतीनखिलाड़ियोंनेबार-बारजीतनेवालेसाथीरौशनअलीकोमारकरनदीमेंफेंकदियाथा।बिहारमेंफ्रीफायरगेमकादूसरामामलासामनेआनेपरभास्करनेगेम्सएक्सपर्टऔरसाइकोलॉजिस्टसेबातशुरूकीतोसामनेआयाकिइसगेमकाक्रेजबहुतज्यादाबढ़गयाहै।येदोघटनाएंनहीं,सेल्फहार्मऔरअटैककीरोजानाकईघटनाएंहोरहीहैं।8से15सालकेबच्चेफ्रीफायरकीलतमेंआधीरातसेसुबहतकबोलीलगाकरअपनीआईडीबेचयादूसरेकीआईडीखरीदरहेहैं।

By Dyer